BusinessIdeaPro

जूता चप्पल की दुकान कैसे खोले?

Footwear Shop Business Plan in Hindi: हम सब तो जानते ही हैं कि आज का समय कितना मॉर्डन और आधुनिक बन गया है। आज के समय में लोग अलग-अलग तरह के बिजनेस और जॉब करते हैं, जिसके कारण वे अट्रैक्टिव दिखना पसंद करते हैं।

इसके लिए लोग अलग-अलग तरह के चीजों का इस्तेमाल करते हैं, जैसे कि स्टाइलिश कपड़े, स्टाइलिश जूते इत्यादि। आज के समय में ऐसे बहुत सारे मॉल और दुकानें खुल गई है, जहां पर बहुत ही अच्छे-अच्छे ड्रेसेस और जूते-चप्पल बिकते हैं।

Footwear Shop Business Plan in Hindi

आज के समय में जूते-चप्पल का बिजनेस काफी ज्यादा चल रहा है और यह आमदनी कमाने का एक काफी अच्छा साधन बन गया है। यदि आप भी एक जूते चप्पल की दुकान का बिजनेस (Footwear Shop Business Plan in Hindi) करना चाहते हैं और इससे जुड़ी सभी प्रकार की जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे इस आर्टिकल के अंत तक जरूर बने रहें। इस बिजनेस से जुड़ी सभी जानकारियों के बारे में विस्तार से बताने जा रहे हैं।

जूता चप्पल की दुकान कैसे खोले? | Footwear Shop Business Plan in Hindi

Table of Contents

जूते चप्पल का बिजनेस कैसे करें? (Footwear Business Plan in Hindi)

जूते चप्पल का व्यापार करना वैसे तो आसान है, परंतु यह बिजनेस इतना भी ज्यादा आसान नहीं है कि कोई भी व्यक्ति इस बिजनेस को शुरू कर सके। इस बिजनेस को शुरू करने के लिए सबसे बड़ी जो समस्या आती है, वह इन्वेस्टमेंट है। बिजनेस वहीँ व्यक्ति चला सकता है, जिसको इस बिजनेस को करने में रूचि हो, बिजनेस में इन्वेस्ट कैसे करें और वह बिजनेस को अच्छे से समझता हो।

यदि आप जूते चप्पल का बिजनेस करने में इंटरेस्ट तो है, परंतु आपको बिजनेस को लेकर कोई आईडिया नहीं है और आपको पता नहीं है कि जूते चप्पल का बिजनेस कैसे करें (Juta Chappal ki Dukan Kaise Khole) तो आप हमारा यह आर्टिकल अंत तक पढ़े, आपको सभी आईडिया अच्छी तरीके से मिल जाएंगे।

जूता चप्पल के बिजनेस को शुरू करके उसे आसानी से चलाने के लिए आपको इस बिजनेस के लिए मार्केट रिसर्च, बिजनेस में आने वाले और रेस्ट बिजनेस करने के लिए आवश्यक माल और उन सभी के लिए कीमत और इस बिजनेस में सेल किए जाने वाले जूते चप्पल को खरीदने में बेहद समस्याएं आती हैं। इन सभी जानकारियों के साथ-साथ आपको अपने मार्केटिंग प्रोसेस को डिवेलप करना होगा।

बिजनेस के लिए अच्छे लोकेशन को सिलेक्ट करना होगा और अपने बिजनेस के लिए लाइसेंस व रजिस्ट्रेशन भी करना जरूरी होगा। आप सभी लोग सभी प्रक्रियाओं का पालन करके बड़ी ही आसानी से जूते और चप्पल का बिजनेस शुरू कर सकते हैं।

जूते चप्पल का बिजनेस एक ऐसा बिजनेस है, जो आपको एक अच्छी प्रॉफिट दे सकता है और यदि आप अच्छी प्रॉफिट प्राप्त करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको अपने बिजनेस स्ट्रेटजी को बहुत ही ज्यादा बढ़ाना होगा और आप अपने ग्राहकों से जितने ज्यादा अट्रैक्ट होकर रहेंगे, आपके ग्राहक आप सभी लोगों से उतने ही ज्यादा संतुष्ट होंगे।

एक बार चीजें लेकर जाने के बाद वापस आपके शॉप पर जरूर आएंगे। इससे आप सभी लोगों के बिजनेस पर और उसके मार्केटिंग पर एक अच्छा प्रभाव पड़ेगा।

जूते चप्पल की दुकान का बिजनेस कैसे शुरू करें?

जूते-चप्पल का बिजनेस (Jute Chappal ka Business) शुरू करने के लिए आपको अनेकों बातों का ध्यान रखना होगा और इस बिजनेस से जुड़ी हुई सभी प्रकार की जानकारी प्राप्त कर लेनी होगी। बिजनेस को सफल बनाने के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है कि बिजनेस को शुरू करने से पहले उससे जुड़े हुए आइडियाज, मार्केटिंग स्किल, बिजनेस के विषय में समझ व ज्ञान इत्यादि के बारे में अच्छे से जानकारी प्राप्त करने के बाद ही बिजनेस की शुरुआत करें।

यह बिजनेस स्ट्रेटजी आप जूते चप्पल के बिजनेस में नहीं बल्कि किसी भी बिजनेस में ही यूज कर सकते हैं, जहां तक बात हुई जूते चप्पल के बिजनेस के मार्केटिंग स्ट्रेटजी के विषय में तो यह मार्केटिंग स्ट्रेटजी जूते चप्पल के बिजनेस में बहुत ही अच्छा प्रभाव डालेगी।

ऊपर बताया गया तरीके के अनुसार आप जूते चप्पल की दुकान को शुरू कर सकते हैं और शुरू करने के बाद आपको सबसे पहले जूते चप्पल के बिजनेस से संबंधित सभी प्रकार की जानकारियों को प्राप्त करना होगा। इतना ही नहीं इस के साथ-साथ आपको अपने बिजनेस को सफल बनाने के लिए बिजनेस की मार्केटिंग को अच्छे तरीके से समझना होगा।

आपको इस बिजनेस की शुरुआत करने के लिए एक अच्छी जगह का भी चयन करना होगा। क्योंकि बिजनेस कितना सफल होगा और कितना असफल होगा यह बिजनेस के लोकेशन पर भी डिपेंड करती है।

फुटवियर बिजनेस के लिए बनाए प्लान

यदि हम कभी भी किसी भी प्रकार के बिजनेस को शुरू करना चाहते हैं तो हमें सबसे पहले उस बिजनेस को लेकर एक अच्छा प्लान तैयार करना चाहिए होता है और इसके बाद हमें उस बिजनेस के प्लान के मुताबिक आगे बढ़ना होता है। उसी प्रकार यदि आप जूते चप्पल की दुकान (Juta Chappal ki Dukaan) शुरू करना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले अपना फुटवियर बिजनेस प्लान बना लेना होगा और आपको अपने बिजनेस के अगले कदम पर चलना होगा।

हमारे बिजनेस में हमें कितनी सक्सेस मिल रही है और कितना नुकसान हो रहा है यह सब बिजनेस शुरू करने से पहले किए गए प्लान पर डिपेंड करता है। क्योंकि यदि आप अपने बिजनेस को शुरू करने के लिए प्लांस को किसी जानकार व्यक्ति और ट्रस्टेड व्यक्ति के साथ शेयर करते हैं और उनसे सलाह प्राप्त करके अपना बिजनेस शुरू करते हैं तो बिजनेस में ग्रोथ आपको अवश्य देखने को मिलेगी।

आप में से बहुत से लोग ऐसे होंगे, जो अपने बिजनेस के लिए प्लान तो बनाना चाहते हैं। परंतु आपने प्लान को किस के साथ शेयर करें और किस व्यक्ति के साथ पार्टनरशिप करें तो हम आपको बता दे कि आप ऐसे लोगों से अपने प्लान को शेयर करें, जो आपको अच्छे से समझता हो और जिसे आप भी अच्छे से समझते हो।

वरना यदि आप किसी भी व्यक्ति के साथ ऐसे ही अपने प्लांस को शेयर करेंगे तो यदि आपका प्लेन अच्छा होगा तो वह व्यक्ति आपके प्लेन स्ट्रेटजी को चोरी कर सकता है और उससे खुद का बिजनेस शुरू करके इनकम कर सकता है और रही बात किसी व्यक्ति को पार्टनर बनाने की तो आप उसी व्यक्ति को पार्टनर बनाएं जो आपके लिए ट्रस्टेड हो या आप बिना पार्टनरशिप के भी बिजनेस चला सकते हैं।

यदि आपके पास बिजनेस स्ट्रेटजी और अच्छे से बिजनेस चलाने का तरीका हो, सबसे बड़ी बात यदि आपकी इन्वेस्टमेंट होती है तो आप बिना किसी व्यक्ति को अपना पार्टनर बनाएं, अपने बिजनेस को काफी अच्छे से चला सकते हैं।

जूता चप्पल बिजनेस के लिए मार्केट रिसर्च

बिजनेस शुरू करने से पहले हमें मार्केट सर्च पर बहुत ही विशेष रुप से ध्यान देना होता है। चाहे कोई सा भी बिजनेस हो, उस बिजनेस में सफलता प्राप्त करनी है तो हमें मार्केट रिसर्च अच्छे से अच्छे पैमाने पर करनी होगी। यदि आप जूते चप्पल का बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले इस बिजनेस को लेकर भी मार्केट सर्च करनी बेहद आवश्यक है।

क्योंकि किस क्षेत्र में जूते चप्पल (Juta Chappal) की अधिक दुकाने मौजूद हैं?, किस जगह पर जूते चप्पल का बिजनेस अच्छी तरीके से चल सकता है?, किस जगह पर सप्लायर की सुविधा आसानी से मिल सकेगी? और किस जगह पर लोगों के आने-जाने के लिए ट्रांसपोर्ट की सुविधा मौजूद होगी इत्यादि बातों के बारे में जानना अति आवश्यक होता है। क्योंकि यह सब बातें बिजनेस को सफल बनाने में सहयोग देती हैं।

यदि आप में से कोई भी व्यक्ति जूते चप्पल का व्यापार शुरू करना चाहता है तो आपको सबसे पहले अपने मार्केट के आसपास के सभी लोकेशन के विषय में अच्छे तरीके से जानकारी प्राप्त कर लेनी है और इसके साथ-साथ आपको इस बात का भी ध्यान देना है कि आपके लोकल मार्केट में किस प्रकार के जूते चप्पल के रिक्वायरमेंट सबसे ज्यादा है। क्योंकि लोगों की जरूरतों पर ध्यान देकर यदि आप अपना बिजनेस शुरू करेंगे तो आपका बिजनेस काफी अच्छे तरीके से ग्रो करेगा।

इतना ही नहीं यदि आप जूते चप्पल के बिजनेस को शुरू कर के अच्छे इनकम करना चाहते हैं तो आपको ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ अपने कांटेक्ट को बनाना है और आने वाले समय में बिजनेस शुरू करने के पश्चात मार्केटिंग करने के लिए भी पोस्टर एवं बैनर्स बनवा कर अपने सेलिंग के विषय में और बिजनेस पर दिए जाने वाले डिस्काउंट के विषय में लोगों को बताने हैं।

आपको इन सभी विषयों पर विशेष ध्यान देना है और इन सभी बातों पर अमल करने के बाद आपको बिजनेस को शुरू करना है। आप जूते चप्पल का बिजनेस एक छोटी सी दुकान के माध्यम से खोल सकते हैं। लेकिन आपको इस बात का ध्यान देना अति आवश्यक है कि आप जिस जगह पर अपनी दुकान खोल रहे हैं, उस जगह पर दूसरी और कोई दुकान मौजूद ना हो या बहुत कम दुकानें ही मौजूद हो।

आपको इस बिजनेस की शुरुआत करने के लिए इससे जुड़े हुए इन्वेस्टमेंट के बारे में भी पता करना होगा। कुल मिलाकर आपको इस बिजनेस से जुड़े हुए हर संभव प्रकार की मार्केट रिसर्च करना होगा ताकि आपके बिजनेस में लॉस कि चांसेस ना हो।

जूते चप्पल की बिजनेस के लिए माल की कीमत

आज के समय में लगभग सभी लोग इस मॉडर्न जमाने में अलग-अलग डिजाइन के जूते और चप्पल पहनना पसंद करते हैं। लोग खासकर ऐसे जूते चप्पल पहनना पसंद करते हैं, जो ट्रेंडिंग होते हैं अर्थात चलन भी ज्यादा होते हैं। जूते और चप्पल का बिजनेस शुरू करने के लिए माल में सिर्फ जूते और चप्पल की जरूरत पड़ती है।

आप इसके साथ-साथ लड़कियों के लिए जूती, सेंडल, डेली यूज़ स्लीपर, हील सैंडल इत्यादि भी रख सकते हैं। परंतु इस बात का विशेष ध्यान रखें कि आप अपने शॉप पर मार्केट ट्रेंडिंग के हिसाब से ही शूज और चप्पल मंगवाए।

आपको इस बिजनेस में और भी किसी प्रकार की माल की जरूरत नहीं पड़ेगी। सिर्फ आप जूते, चप्पल और सैंडल जैसे माल की मदद से बिजनेस की शुरुआत कर सकते हैं। इन सब माल को खरीदने के लिए कम से कम आपको 2 लाख रुपए लगेंगे।

यदि आप अपने दुकान के अंतर्गत बेस्ट ब्रांड और बेस्ट क्वालिटी के जूते चप्पल रखते हैं तो आपको दो लाख रुपए से अधिक भी लग सकते हैं। इस बिजनेस में लगने वाली लागत जूते चप्पल की क्वालिटी और ब्रांड पर भी निर्भर करता है।

जूते चप्पल की बिजनेस के लिए थोक माल कहां से खरीदें?

यदि आपने जूते चप्पल के बिजनेस को शुरू करने का ख्याल बना ही लिया है तो अब आपको इसके लिए दुकान के साथ-साथ एक सप्लायर की भी जरूरत पड़ेगी। अतः यह सप्लायर आपको टाइम टाइम पर मार्केट ट्रेंडिंग के हिसाब से जूते और चप्पल की क्वालिटी और डिजाइंस को बताएगा। ऐसा करके वह सप्लायर आपको आपका अपना प्रोडक्ट सेंड करेगा, जिस पर आप अच्छे खासे रखकर उसे मार्केट में सेल कर पाएंगे।

यदि आप एक सप्लायर के थ्रू अपने शॉप पर जूते चप्पल मंगवा लेंगे तो आपको खुद जाकर माल खरीदने की जरूरत नहीं पड़ेगी। आपको बस अपने दुकान के लिए एक अच्छे सप्लायर को ढूंढना होगा। खास तौर पर आपको अपने लिए सप्लायर स्थानीय स्तर पर ढूंढना चाहिए।

स्थानीय सप्लायर से आप कभी भी माल मंगवा सकते हैं और यदि कोई डिफेक्टिव प्रोडक्ट हो तो आप उसे बड़ी ही आसानी के साथ वापस भी कर सकते हैं। स्थानीय सप्लायर को ढूंढने के साथ-साथ आपको इस बात का भी विशेष ध्यान रखना है कि आपके लोकेशन तक स्थानीय सप्लायर द्वारा दिए गए माल को आपके द्वारा ऑफर किए गए कीमत से कम दाम में पहुंचाया जाए ताकि इस से आपका प्रॉफिट हो सके।

इसके साथ ही साथ आपको इस बात का भी विशेष ध्यान रखना होगा कि आप जिस जगह पर अपनी दुकान खोल रहे हैं, उस जगह के लोगों को किस तरह के जूते चप्पल पहनना पसंद है। आप लोगों के पसंद के अनुसार ही अपने माल की डिलीवरी लें। क्योंकि यह सब छोटी-छोटी बातें बिजनेस को सफल बनाने में योगदान देती हैं।

यह भी पढ़े: 50+ पार्ट टाइम बिज़नेस आइडियाज

जूते चप्पल के बिजनेस के लिए लोकेशन

किसी भी बिजनेस की शुरुआत करने के लिए सबसे महत्वपूर्ण होता है लोकेशन। लोकेशन यानी कि आप अपने बिजनेस की शुरुआत किस जगह से कर रहे हैं। क्योंकि बिजनेस की सफलता लोकेशन पर भी निर्भर करती है।

जूता चप्पल की दुकान की शुरुआत करने के लिए भी एक अच्छी लोकेशन का होना अति आवश्यक होता है। आप इस बिजनेस को करने के लिए एक ऐसी जगह का चयन करें, जहां पर ज्यादा भीड़-भाड़ होता हो और उस जगह पर लोगों के आने-जाने के लिए ट्रांसपोर्ट के सुविधाएं मौजूद हो।

आपको जूते चप्पल (Jute Chappal) का बिजनेस खासतौर से शहरी इलाके में खोलना चाहिए। क्योंकि शहरी इलाके में ऐसे बहुत से लोग हैं, जो कि अट्रैक्टिव और सुंदर दिखना पसंद करते हैं, जिसके लिए वे लोग अलग-अलग तरह के जूते चप्पल पहनते हैं। यदि आप अपना बिजनेस ग्रामीण इलाके में खोलते हैं तो वहां पर आपका बिजनेस अच्छे तरीके से नहीं चल सकता।

क्योंकि वहां के लोगों को ज्यादा जूता चप्पल पहनने का शौक नहीं होता है। इसीलिए किसी भी बिजनेस की सफलता के लिए दूसरा सबसे महत्वपूर्ण चीज होता है लोकेशन। इसीलिए आप अपने बिजनेस की शुरुआत करने से लिए लोकेशन का विशेष ध्यान रखें।

जूते चप्पल के बिजनेस के लिए लाइसेंस व रजिस्ट्रेशन

वैसे तो जूते चप्पल (Chapal Shop) का बिजनेस करने के लिए किसी भी प्रकार के लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन करवाने की जरूरत नहीं पड़ती। क्योंकि यह एक छोटा व कम लागत में शुरू होने वाला बिजनेस होता है, जो कि आप अपने खुद के दुकान के माध्यम से भी खोल सकते हैं।

परंतु जब आपका बिजनेस धीरे-धीरे सफलता की ओर बढ़ते जाएगा और एक बड़ा बिजनेस बन जाएगा तब आपको लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन कराने की जरूरत पड़ेगी।

जूते चप्पल के बिजनेस के लिए स्टाफ

किसी भी बड़े बिजनेस को संभालने के लिए एक काबिल स्टाफ की जरूरत पड़ती है, जो कि किसी भी बिजनेस को सफल बनाने में काफी ज्यादा योगदान देते हैं। स्टाफ यानी कि एक ऐसी टीम जो कि कुशल व्यक्तियों से मिलकर बनती है और यही टीम मिलकर बिजनेस को संभालती हैं।

परंतु यदि आपने अपने बिजनेस की शुरुआत ही की है तो आपको स्टार्टिंग में किसी भी स्टाफ की जरूरत नहीं पड़ेगी। परंतु यदि आपका बिजनेस काफी अच्छा चल रहा है और आपकी दुकान पर काफी अच्छे ग्राहक आते हैं तो आपको अपने बिजनेस को संभालने के लिए एक काबिल स्टाफ की जरूरत पड़ेगी, जो कि आपके ग्राहकों को संभालने का काम करेंगे और आपके ग्राहकों को उनके पसंद के अनुसार जूते चप्पल दिखाएंगे। आपके कस्टमर्स को आपके दुकान के अंतर्गत मौजूद जूते चप्पल इत्यादि की क्वालिटी और ब्रांड जैसे चीजों के बारे में अवगत कराएंगे।

जूते चप्पल के बिजनेस के लिए पैकिंग

आपको अपने जूते चप्पल (Juta Chappals) के बिजनेस के अंतर्गत बाकी चीजों के साथ-साथ कस्टमर को पैकिंग की सुविधा प्राप्त करवाना भी अति आवश्यक होता है। जब भी आपके दुकान पर कोई भी कस्टमर शॉपिंग करने आता है तो आप उसके द्वारा लिए गए जूते और चप्पल को पैक करके दे सकते हैं। इससे आपके दुकान की इमेज आपके ग्राहकों के सामने काफी अच्छी बनेगी।

आप अपने जूते और चप्पल के पैकिंग के लिए फैब्रिक बैग का इस्तेमाल कर सकते हैं। आप किसी भी प्रिंटिंग प्रेस के दुकान के माध्यम से अपने द्वारा डिजाइन किए गए एडवर्टाइजमेंट को अपने फैब्रिक बैक पर छपवा कर पैकिंग के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं। ऐसा करने से आपके ग्राहकों को पैकिंग की सुविधा तो मिलेगी ही बल्कि इसके साथ ही साथ आपके दुकान के एडवरटाइजमेंट बड़ी ही आसानी के साथ होगी हैं।

किस मटेरियल से जूता और चप्पल बनते है?

जूते और चप्पल बहुत से मैटेरियल्स का यूज करके बनाया जाता है। बहुत ही बड़ी-बड़ी कंपनियां होती है, जो अपने जूते और चप्पल जेनुइन लेदर से बनाती है। परंतु इसके साथ-साथ बहुत जैसी कंपनियां होती है, जो अपने जूते और चप्पल को रबड़, कपड़े और लेदर की उपयोग से बनाती हैं।

हम आपको बता दें कि कंपनियां अपने जूते और चप्पल मार्केट की डिमांड पर बनाती हैं, जिस प्रकार के जूते और चप्पल मार्केट में ज्यादा चलते हैं, उसी प्रकार की चीजें कंपनियां ज्यादा प्रोड्यूस करती हैं और इतना ही नहीं इसके साथ-साथ कंपनियां उन्हीं मैटेरियल्स का यूज करती है, जो कंफर्टेबल हो जैसे की रबर, लेदर, फाइबर और कपड़े।

जो जूते कंपनियों के द्वारा सिर्फ और सिर्फ लेदर की बनाई जाती हैं, वह अन्य जूतों के मुकाबले काफी ज्यादा वजनी होती हैं और जो जूते रबड़ और फाइबर से बनाए जाते हैं, वे काफी ज्यादा हल्के होते हैं। इसीलिए लोग रबड़ और फाइबर की यूस से बनाए गए जूते ज्यादा पसंद करते हैं।

जूते चप्पल के बिजनेस के लिए लागत

जैसा कि मैंने आपको पहले भी बताया है कि जूते चप्पल के बिजनेस की शुरुआत करने के लिए कम से कम ₹200000 रुपए लगते हैं। यह लागत आपके द्वारा खरीदे गए प्रोडक्ट के क्वालिटी और ब्रांड पर भी निर्भर करता है। क्वालिटी और ब्रांड के अनुसार इस बिजनेस में 2 लाख रुपए से भी अधिक पैसे लग सकते हैं।

इस बिजनेस के अंतर्गत ज्यादा इन्वेस्टमेंट करने की जरूरत नहीं होती है। जब आपका बिजनेस काफी अच्छा चलने लगे तब आपको इस बिजनेस में ज्यादा इन्वेस्टमेंट करने की जरूरत पड़ती है।

आप अपने बिजनेस के अंतर्गत जितना भी पैसा इन्वेस्ट कर रहे हैं, उस पैसे को आप अपने ग्राहकों के द्वारा वसूल कर सकते हैं। जैसा कि मैंने आपको पहले भी बताया है कि यदि आप अपने बिजनेस को शहरी इलाके में खोलते हैं तो आपका बिजनेस काफी अच्छा चलेगा तो आप लोगों के जरूरतों के अनुसार अपने जूते और चप्पल का दाम रख सकते हैं, जिससे कि आप का मुनाफा हो सके।

परंतु यदि आप अपना बिजनेस ग्रामीण इलाके में खोलते हैं तो आपको ग्रामीण इलाकों के लोगों के अनुसार ही अपने प्रोडक्ट का दाम रखना होगा, जो कि आपके बिजनेस को सफल बनाने के लिए काफी नहीं होगा। इसीलिए आपको अपने बिजनेस को शहरी इलाके में ही खोलना चाहिए, जिससे कि आपके बिजनेस में काफी ज्यादा मुनाफा हो सके।

जूते चप्पल के बिजनेस में फायदा (Footwear Business Profit in Hindi)

वैसे तो सभी बिजनेस में कुछ ना कुछ प्रॉफिट होता ही है। परंतु यह जरूरी नहीं है कि सभी बिजनेस में हर बार प्रॉफिट ही हो। क्योंकि किसी भी बिजनेस को सफल बनाने के लिए बेहतर तरीके आइडियाज मार्केटिंग स्किल इत्यादि चीजों की जरूरत पड़ती है। यदि कोई भी व्यक्ति अपने बिजनेस को सूझबूझ व समझदारी के साथ चलाता है तो उसका बिजनेस जरूर सफल होता है।

ठीक इसी तरह जूते चप्पल के बिजनेस में भी काफी ज्यादा फायदा होता है। परंतु यदि आप अपने वजूद को अच्छी तरीके से नहीं चला रहे हैं तो आपको इस बिज़नेस में घाटा भी हो सकता है।

जूते चप्पल के बिजनेस की सफलता इस बात पर निर्भर करती है कि आपके काम करने का तरीका कैसा है?, आपके प्रोडक्ट की कीमत कैसी है?, आपके प्रोडक्ट की क्वालिटी कैसी है?, आप कौन से ब्रांड के प्रोडक्ट रखते हैं?, आपके प्रोडक्ट की पैकेजिंग कैसी हैं?, आपके प्रोडक्ट की डिज़ाइन कैसी है? इत्यादि।

इसके साथ ही साथ जूते और चप्पल के बिजनेस की प्रॉफिट लोकेशन पर भी निर्भर करता है। जैसा कि मैंने आपको पहले ही बताया है कि आपको अपने बिजनेस को ऐसी जगह पर खोलना चाहिए, जहां पर ज्यादा भीड़ भाड़ हो और उस जगह के लोगों को अच्छे व डिजाइनर जूते और चप्पल पहनने का शौक हो।

आप जिस जगह पर अपना बिजनेस शुरू करना चाहते हैं, उस जगह के लोगों के पसंद के अनुसार काफि ज्यादा रिसर्च करना होगा तभी आपके बिजनेस में प्रॉफिट हो सकता है। कुल मिलाकर आपको अपने बिजनेस को सफल बनाने के लिए हर तरह के संभव रिसर्च करने होंगे।

जूते चप्पल के बिजनेस के लिए मार्केटिंग

जैसा कि मैंने आपको पहले भी बताया है कि किसी भी प्रकार के बिजनेस को सफल बनाने के लिए मार्केट की समझ, सूझबूझ, ज्ञान, आइडिया इत्यादि की जरूरत पड़ती है। परंतु इसके साथ ही साथ किसी भी बिजनेस को सफल बनाने के लिए मार्केटिंग प्रोसेस की जानकारी होना भी अति आवश्यक होता है।

यदि आपकी मार्केटिंग स्किल्स अच्छी है और आप लोगों से अच्छी तरीके से कम्युनिकेशन कर पाते हैं तो आपका यह हुनर आपके बिजनेस को सफल बनाने में काफी ज्यादा योगदान दे सकता है।

यदि आपके पास सभी प्रकार के इक्विपमेंट्स, रॉ मैटेरियल, माल इत्यादि मौजूद है। परंतु आपको मार्केटिंग प्रोसेस का समझ और जानकारी नहीं है तो आप अपने बिजनेस को सफल नहीं बना सकते हैं। ठीक इसी तरह जूते चप्पल के बिजनेस को चलाने के लिए भी मार्केटिंग प्रोसेस का समझ होना अति आवश्यक होता है।

किसी भी प्रकार के बिजनेस को शुरू करने से पहले या शुरू करने के बाद उसका मार्केटिंग करना बहुत ही जरूरी होता है। क्योंकि जब तक आप अपने दुकान के बारे में लोगों को नहीं बताएंगे तब तक लोगों को आपके दुकान के बारे में पता नहीं चलेगा। जब तक लोगों को आप के बिजनेस के बारे में जानकारी नहीं होगी तब तक आपका बिजनेस सफल नहीं हो सकता।

आपको अपना बिजनेस किसी भीड़भाड़ वाले इलाके में ही खोलना चाहिए। क्योंकि ऐसा करने से ज्यादा से ज्यादा लोगों को आपके बिजनेस के बारे में जानकारी प्राप्त होगी और वह दूसरे लोगों को आप के बिजनेस के बारे में बता सकेंगे। वैसे तो आज के समय में ऐसे बहुत सारे टेक्नोलॉजी आ गई है, जिनकी मदद से आप अपने बिजनेस का एडवर्टाइजमेंट कर सकते हैं।

आप डिजिटल मार्केटिंग की मदद से वेबसाइट, एप, अखबार पर अपने बिजनेस का ऐड दे सकते हैं और इस के साथ ही साथ आप अपने दुकान का एड्रेस और कांटेक्ट नंबर देकर मार्केटिंग कर सकते हैं। वैसे तो इस तरह के मार्केटिंग प्रोसेस में काफी ज्यादा पैसे खर्च करने की जरूरत पड़ती है। परंतु ऐसा करने से आपके बिजनेस की काफी अच्छी एडवर्टाइजमेंट होती है।

एडवर्टाइजमेंट करने का सबसे सीधा और सरल तरीका होता है ‘माउथ एडवर्टाइजमेंट’। इस मार्केटिंग के अंतर्गत आपको पैसे खर्च करने की जरूरत ही नहीं पड़ती, बस आपको अपने ग्राहक को बेहतर से बेहतर सुविधाएं प्रदान करनी होंगी और आपको अपने ग्राहक को खुश करना होगा। जिससे कि वे घर जाकर अपने परिवार व रिश्तेदारों को आपके बिजनेस के बारे में बताएंगे और इस तरीके में ज्यादा से ज्यादा लोगों को आपके बिजनेस के बारे में जानकारी प्राप्त होगी और इस तरह से आपका बिजनेस सफल हो सकेगा।

मार्केटिंग प्रोसेस का मतलब होता है कि आप अपने बिजनेस को किस तरह से चला रहे हैं?, आप अपने ग्राहकों के लिए क्या-क्या ऑफर रख रहे हैं?, आप अपने ग्राहकों को क्या-क्या सुविधाएं प्रदान कर रहे हैं?, आप अपने बिजनेस को चलाने के लिए किस तरह के आइडियाज, ऑफर इत्यादि चीजों का इस्तेमाल कर रहे हैं?, आपकी मार्केटिंग की समझ कैसे हैं? इत्यादि।

आप सब तो जानते ही हैं कि आज का समय पूरी तरीके से डिजिटल और आधुनिक बन गया है तो आप इसी आधुनिकता का इस्तेमाल करके अपने मार्केटिंग प्रोसेस को बढ़ा सकते हैं और अपने बिजनेस को सफल बना सकते हैं। आज के समय में बहुत सारे टेक्नोलॉजी उपलब्ध है, जिनकी मदद से आप अपने बिजनेस का अलग-अलग तरह से एडवर्टाइजमेंट का इस्तेमाल करके प्रचार कर सकते हैं, जिससे कि आपका बिजनेस सफल बन सकता है।

यह भी पढ़े: चूड़ियों का बिजनेस कैसे करें?

जूते चप्पल के बिजनेस में रिस्क

आज के समय में ऐसा कोई भी बिजनेस नहीं है, जिसके अंतर्गत रिस्क ना हो। शुरुआत में सभी बिजनेस में लॉस होने के चांसेस अधिक होते हैं। क्योंकि स्टार्टिंग में आपके बिजनेस के बारे में अधिक लोगों को जानकारी नहीं होती है। यदि कोई व्यक्ति ऐसा बिजनेस स्टार्ट कर रहा है, जिसके बारे में उसे किसी भी प्रकार की जानकारी नहीं है तो ऐसे बिजनेस में लॉस होने के चांसेस अधिक बढ़ जाते है।

ठीक इसी तरह जूते चप्पल के बिजनेस में भी रिस्क होता हैं। यदि आपको इस बिजनेस से जुड़ी हुई जानकारी जैसे की मार्केटिंग स्किल, मार्केट रिसर्च, आइडिया, अनुभव, ज्ञान, मार्केट की समाज इत्यादि के बारे में जानकारी प्राप्त नहीं है तो आपके बिजनेस में लॉस होने के चांसेस अधिक बढ़ जाता हैं।

इसीलिए किसी भी बिजनेस की शुरुआत करने से पहले उससे जुड़े हुए सभी प्रकार की जानकारी प्राप्त कर लेना चाहिए। बिना तजुर्बे और जानकारी के किसी भी बिजनेस की शुरुआत नहीं करना चाहिए। क्योंकि बिना तजुर्बे और जानकारी वाले बिजनेस में हमेशा लॉस ही होता है।

जूता चप्पल की बिक्री की भविष्य में संभावनाएं

फैशन के इस भर्ती दौड़ में मनुष्य को जितना फैशनेबल दिखना है, उतना ही ज्यादा उन्हें अपने बॉडी सेंस पर भी ध्यान देना होता है। इसीलिए लोग अपने कपड़ों से लेकर जूते तक पर भी काफी ध्यान देते हैं और इसी को देखते हुए आने वाले समय में जूते चप्पल के व्यापार में काफी बढ़ोत्तरी होने वाली है।

जिस प्रकार लोग दिन प्रतिदिन नए नए कपड़े खरीदते रहेंगे, ठीक उसी तरह लोग प्रतिदिन अपने लिए बॉडी सेंस के कॉन्बिनेशन के लिए जूते और चप्पल भी खरीदेंगे। इस प्रकार से हम सभी लोग यह समझ सकते हैं कि आने वाले समय में जूते चप्पल की व्यापार में कितनी बढ़ोतरी हो सकती है।

जूते चप्पल के बिजनेस की शुरुआत करने के लिए सबसे पहले आपको इस बिजनेस से जुड़ी हुई सभी प्रकार की जानकारी प्राप्त करनी होगी।

जूते चप्पल के डिजाइन एस में कम से कम दो लाख रुपए तक का इन्वेस्टमेंट करना पड़ता है।

इस बिजनेस की शुरुआत एक ऐसी जगह से करनी चाहिए, जहां पर ज्यादा भीड़ भाड़ होती हो और उस जगह पर लोगों के आने-जाने के लिए ट्रांसपोर्ट के सुविधाएं मौजूद हो।

जूते चप्पल के बिजनेस को सफल बनाने के लिए मार्केटिंग रिसर्च, स्टाफ, पैकेजिंग, मार्केटिंग स्किल्स इत्यादि चीजों की जरूरत पड़ती है।

किसी भी बिजनेस की मार्केटिंग करने का सबसे अच्छा तरीका होता है माउथ मार्केटिंग।

आज के समय में जूते पर चप्पल पहनने का शौक लगभग सभी लोगों में देखा जाता है, इसलिए आज के समय में जूते पर चप्पल का बिजनेस आमदनी कमाने का एक काफी अच्छा साधन है। इस बिजनेस शुरू करने के लिए किसी भी प्रकार के लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन की जरूरत नहीं होती और इसके साथ ही साथ इस बिजनेस को काफी कम लागत में भी खोला जा सकता है।

इस बिजनेस के सफलता के चांसेस भी अधिक होते हैं और यदि कोई भी व्यक्ति अपनी सूझबूझ व समझदारी के साथ उस दिन उसको करता है तो इस बिजनेस में अधिक से अधिक प्रॉफिट भी हो सकता है।

आज हमने आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से जूते चप्पल के बिजनेस (Footwear Shop Business Plan in Hindi) के बारे में पूरी जानकारी प्रदान करने की कोशिश की है। आशा है कि आपको हमारे इस आर्टिकल के माध्यम से इस बिजनेस के बारे में काफी ज्यादा जानकारी प्राप्त हुई होगी, जो कि आपके लिए इस बिजनेस की शुरुआत करने में मददगार साबित होगा।

यदि आपका इससे जुड़ा कोई सवाल या सुझाव है तो कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। हम जल्द ही आपके सवाल का जवाब देने की कोशिश करेंगे।

कॉस्मेटिक वस्तुओं का बिजनेस कैसे शुरू करें?

कपड़े का बिजनेस कैसे शुरू करें?

ब्यूटी पार्लर बिजनेस कैसे शुरू करें?

घर बैठे बिन्दी पैकिंग का काम कैसे शुरू करें?

फैंसी स्टोर का बिजनेस कैसे शुरू करें?

Leave a Comment Cancel reply

Save my name, email, and website in this browser for the next time I comment.

Business Plan Hindi

जूते चप्पल की दुकान कैसे खोलें? How to Start a Footwear Shop Business.

Footwear Shop यानिकी एक ऐसी दुकान जहाँ से लोग जूते चप्पल खरीद सकते हैं। जहाँ पहले जूते चप्पलों का इस्तेमाल पैरों को कंकड़, पत्थर, काँटों इत्यादि से बचाने के लिए किया जाता था। वहीँ वर्तमान में इनका इस्तेमाल फैशन के आधार पर किया जाता है अर्थात वर्तमान में लोग कोशिश करते हैं की उनके जूते चप्पलों का रंग एवं आकार उनके द्वारा पहने गए कपड़ों से मैच करे। यही कारण है की आज के युवाओं के पास एक दो जोड़ी नहीं बल्कि अनेकों जोड़ी जूते एवं चप्पल देखे जा सकते हैं।

हालांकि ग्रामीण इलाकों में जो लोग पूरी तरह से अपनी आजीविका चलाने के लिए कृषि पर निर्भर हैं। वे अभी तक एक एक जोड़ी जूते चप्पल का ही इस्तेमाल करते हैं। वर्तमान में लोग फैशन के प्रति इतने जागरूक हैं की कोई नया फैशन आते ही वे उसे अपनाने को आतुर हो जाते हैं। वर्तमान में जूते चप्पल भी अनेकों फैशनेबल डिजाईन में उपलब्ध हैं।

इसलिए इच्छुक व्यक्ति के लिए एक Footwear Shop Business शुरू करना बेहद लाभकारी हो सकता है। हालांकि कुछ दशक पहले जहाँ आम तौर पर औरतों को ही संजने, संवरने एवं फैशन करने का शौक रहता था इसी के चलते उनके पास कपड़ों के मुताबिक अनेकों जोड़े फुटवियर देखने को मिल जाते थे। लेकिन वर्तमान में पुरुष भी अपने पहनावे के मुताबिक जूते चप्पलों का रंग एवं आकार पसंद करने लगे हैं। यही कारण है की वर्तमान में एक व्यक्ति के पास केवल एक जोड़े ही जूते चप्पल न होकर अनेकों जोड़े जूते चप्पल मौजूद रहते हैं।

footwear shop business plan in hindi

पूरा लेख एक नजर में

जूते चप्पल की बिक्री की संभावना  

जिस तरह से मनुष्य जीवन में कपड़े भूमिका निभाते हैं ठीक उसी तरह जूते चप्पल भी मानव जीवन में मुख्य भूमिका निभाते हैं। कहने का अभिप्राय यह है की जिस प्रकार एक स्थानीय मार्किट में लोगों की कपड़ों की आवश्यकता की पूर्ति के लिए एक से अधिक कपड़े बेचने वालों की दुकान विद्यमान रहती हैं। ठीक उसी प्रकार लोगों की जूते चप्पल की मांग की पूर्ति के लिए एक से अधिक Footwear Shop भी किसी स्थानीय मार्किट में हो सकते हैं।

कहा जाता है की मनुष्य अपने पड़ोसी तो नहीं चुन सकता लेकिन जिन चीजों की उसे आवश्यकता है उनका चयन वह सोच समझकर कर सकता है। यही कारण है की जब व्यक्ति जूते चप्पल खरीदने बाजार जाता है तो वह एक से अधिक दुकानों में इसके लिए भ्रम करता है। लेकिन यदि जूते चप्पल की दुकान यानिकी Footwear Shop उसकी विश्वसनीय दुकान हो तो वह खुद तो वहीँ से खरीदारी करेगा औरों को भी वहां खरीदारी के लिए लाएगा।

जूते चप्पल के लिए देखा जाय तो अपना देश भारत भी कम बड़ी मार्किट नहीं है यही कारण है की यहाँ प्रति वर्ष लगभग 2.1 बिलियन जोड़ी जूते प्रति वर्ष बनाये जाते हैं और इनमें से लगभग नब्बे प्रतिशत इसी देश में इस्तेमाल में लाये जाते हैं। बाकी बचे हुए दस प्रतिशत जूते बाहरी देशों को निर्यात कर दिए जाते हैं। कहने का अभिप्राय यह है की Footwear Shop Business एक ऐसा व्यवसाय है जो कहीं से भी शुरू किया जा सकता है। और उद्यमी स्थानीय मार्किट में उपलब्ध लोगों को टारगेट कर सकता है।

जूते चप्पल की दुकान कैसे शुरू करें ( How to Start a Footwear Shop In India):  

जूते चप्पल की दुकान यानिकी Footwear Shop का व्यापार शुरू करने की प्रक्रिया को बेहद आसान एवं सरल माना जाता है शायद इसका मुख्य कारण यह है की इस तरह की दुकान खोलने के लिए भी किसी प्रकार के लाइसेंस एवं रजिस्ट्रेशन की अनिवार्यता नहीं है।

हालांकि जैसे जैसे उद्यमी के व्यापार का आकार एवं टर्नओवर बढ़ता जायेगा उसे अनेक प्रकार के लाइसेंस जैसे टैक्स रजिस्ट्रेशन इत्यादि की आवश्यकता हो सकती है। लेकिन सच कहें तो शुरूआती दौर में इस तरह का यह व्यापार शुरू करना बिना किसी झंझटो का सामना किये आसानी से शुरू किया जा सकता है।  तो आइये जानते हैं की कैसे कोई इच्छुक व्यक्ति Footwear Shop का यह बिजनेस कैसे शुरू कर सकता है।

1. एरिया विशेष में उपलब्ध जनसँख्या का अवलोकन करें

जैसा की हम पहले भी बता चुके हैं की Footwear Shop Business शुरू करने के लिए उद्यमी को क़ानूनी या लाइसेंसिंग रजिस्ट्रेशन इत्यादि में बहुत ज्यादा ध्यान देने की आवश्यकता नहीं है। इसलिए उद्यमी का जो सबसे पहला कदम इस तरह का यह व्यापार शुरू करने के लिए होता है वह होता है उस एरिया विशेष में उपलब्ध जनसँख्या का अवलोकन करने का। कहने का आशय यह है की उद्यमी को अपनी टारगेट कस्टमर की जूते चप्पल सम्बन्धी पसंद नापसंद की जानकारी होना अति आवश्यक है।

ताकि वह उसी के आधार पर अपनी दुकान में जूते चप्पल इत्यादि रख पाए। जैसा की हम सब जानते हैं की बाजार में एक से बढ़कर एक महंगे जूते चप्पल एवं एक से बढ़कर एक सस्ते जूते चप्पल मौजूद हैं। इसलिए जिस एरिया में उद्यमी खुद की Footwear Shop खोलना चाहता है उद्यमी को उनकी कमाई, खर्च करने की क्षमता, जूते चप्पलों की पसंद, नापसंद के बारे में जानकारी होना अनिवार्य है। किसी पॉश इलाके में सस्ते जूते चप्पल जिनकी क्वालिटी अच्छी न हो का चल पाना बड़ा कठिन हो सकता है।

उसी प्रकार एक ऐसा एरिया जहाँ पर लोगों की कमाई कम, एवं खर्च करने की क्षमता कम हो वहां पर महंगे जूते चप्पलों को अपनी दुकान का हिस्सा बनाना कहीं से कहीं तक समझदारी नहीं है। इसलिए उद्यमी जिस एरिया में जूते चप्पल की दुकान शुरू करना चाहता है उस एरिया में विशेष में मौजूद जनसँख्या का विभिन्न बातों को लेकर अवलोकन करना अत्यंत आवश्यक हो जाता है।

2. प्रतिद्वंदियों को पहचानें (Know your Competitor to success in Footwear Shop Business)

अब उद्यमी का अगला कदम उस एरिया विशेष में उपलब्ध अपने प्रतिद्वंदियों को पहचानने का होना चाहिए। अर्थात Footwear Shop Business कर रहे उद्यमी को अपने प्रतिद्वंदियों यानिकी जिनकी जूते चप्पल की दुकान उस स्थानीय मार्किट में पहले से है के बारे में लगभग सब कुछ जानने की कोशिश करनी चाहिए। सब कुछ से हमारा अभिप्राय उनके निजी जीवन से नहीं अपितु उनके द्वारा की जाने वाली व्यवसायिक गतिविधियों से है।

वे माल कहाँ से खरीदते हैं? कितने में खरीदते हैं? कितना खरीदते हैं? और ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए क्या क्या स्कीम चलाते हैं? क्या उनके पास ग्राहक ख़ुशी ख़ुशी आते हैं या फिर उस एरिया में उनके पास और कोई विकल्प ही नहीं है? ग्राहकों के प्रति उनका व्यवहार कैसे रहता है? क्या ग्राहक उनकी कीमत एवं प्रदान की जाने वाली गुणवत्ता से खुश हैं? इत्यादि प्रश्नों का उद्यमी को जवाब पाने की कोशिश करनी चाहिए।    

3. दुकान किराये पर लें

उद्यमी को दुकान किसी ऐसी जगह पर किराये पर लेनी चाहिए जहाँ पर हमेशा आने जाने वालों की भीड़ भाड़ देखने को मिलती हो। जी हाँ कहने का आशय यह है की उद्यमी को अपनी Footwear Shop खोलने के लिए किसी व्यस्त इलाके का चयन करना चाहिए। यदि उस व्यस्त इलाके में कभी कोई साप्ताहिक बाजार आयोजित होता हो तो उद्यमी को बिना देर किये उस एरिया में दुकान किराये पर ले लेनी चाहिए।

कहने का आशय यह है की स्थानीय मार्किट में उद्यमी दुकान किराये पर लेने की सोच सकता है लेकिन वह विशेष जगह हमेशा आने जाने वाले लोगों से व्यस्त रहती हो। दुकान किराये पर लेते वक्त रेंट एग्रीमेंट इत्यादि कराना न भूलें ताकि उसे पता प्रमाण के तौर पर उपयोग में लाया जा सके।      

4. सप्लायर का चुनाव करें (Select a Supplier for Your Footwear Shop )

दुकान किराये पर लेने के पश्चात एवं इंटीरियर का कार्य पूर्ण करने के बाद उद्यमी का अगला काम अपने Footwear Shop के लिए सप्लायर ढूँढने का होना चाहिए। वैसे तो उद्यमी को स्थानीय स्तर पर ही सप्लायर ढूंढना चाहिए क्योंकि स्थानीय सप्लायर से उद्यमी कभी भी माल मंगवा सकता है और डिफेक्टिव माल उसे वापस भी आसानी से कर सकता है।

लेकिन यदि उसे किसी अन्य शहर के सप्लायर से भी अच्छी डील मिल रही है और उद्यमी को लग रहा है की उसकी लोकेशन तक माल स्थानीय सप्लायर द्वारा ऑफर की गई कीमत से कम में पहुँच जायेगा तो वह इसके बारे में भी विचार कर सकता है।

इसके अलावा अपनी दुकान में उद्यमी को सिर्फ उसी कंपनी के फुटवियर रखने चाहिए जो वहां पर बिकते हों हालांकि उद्यमी ब्रांडेड एवं लोकल दोनों तरह के फुटवियर को अपनी दुकान का हिस्सा बना सकता है। लेकिन यदि उद्यमी किसी आय वर्ग विशेष के लोगों को ही टारगेट करके अपनी Footwear Shop Business शुरू करना चाहता है तो फिर उद्यमी उसी आधार पर ब्रांड इत्यादि का चयन करके माल खरीद सकता है।     

5. जूते चप्पल बेचें और कमायें

अब अगला कदम उद्यमी का सिर्फ और सिर्फ अपने जूते चप्पल बेचकर कमाई करने का होना चाहिए इसके लिए यदि उद्यमी को लगता है की उसके ग्राहक स्थानीय लोग हैं तो उसे उनके बीच जूते चप्पल की कीमत एवं गुणवत्ता को लेकर विश्वास बनाना होगा। यह इसलिए जरुरी है क्योंकि अक्सर देखा गया है की लोगों को जिस दुकान में उचित दामों पर अधिक गुणवत्ता वाली वस्तु मिलती है वे उस दुकान की तारीफ करते नहीं थकते। और देखते ही देखते उस दुकान का नाम उस एरिया में फेमस होने लग जाता है।

इसलिए Footwear Shop Business शुरू करने वाले उद्यमी को क्षणिक लाभ के लिए किसी स्थानीय ग्राहक को नाराज करना सही नहीं होगा। इसके अलावा उद्यमी चाहे तो उस एरिया में लगने वाले साप्ताहिक बाज़ारों में भी अपने जूते चप्पलों की प्रदर्शनी लगाकर उन्हें बेच सकता है। शुरू में उद्यमी को केवल और केवल ग्राहकों के बीच कीमत एवं गुणवत्ता को लेकर विश्वास बनाने के बारे में सोचना होगा न की लाभ कमाने के बारे में। यदि उद्यमी ग्राहकों के बीच विश्वास बनाने में कामयाब हो गया तो उसके लिए कमाई के दरवाजे स्वत: ही खुल जायेंगे।

अन्य भी पढ़ें

10 thoughts on “जूते चप्पल की दुकान कैसे खोलें? How to Start a Footwear Shop Business.”

डियर सर में एक छोटा सा जूते का वयापर करना चाहता हूं इसके लिए आप मुझे अच्छे फ्रामुले बताने की कोशिश करे थन्यवत अपकोट

Sar Mein juta ki dukaan kholna chahta hun Kitna kharcha aayega

Sir mai footwear shop buisness karna chahta hu mujhe kitna paisa karch karna hoga

दीपक जी, यह एक ऐसा बिजनेस है जिसे उद्यमी अपनी निवेश क्षमतानुसार कम से कम पैसे लगाकर और अधिक से अधिक पैसे लगाकर आसानी से शुरू कर सकता है.

सर मुझे एक बिजनेस दुकान चप्पल का बनाना चाहता हूं मुझे सहायता करोगे

Footwear shop ka badut kirana hona chahiye

सर मूझे चप्पल बना के बेचना है ईसी लीये मूझे सहकार्य करे

Nice post… Please help me

सर इक बीजेनस करना चाहता हु की मोज सायता कारग जय जूता चप्पल का मार्केट करना चाहता हूं मुझे कृपया साथ दें न्यू दुकान खोलना है

Leave a Comment Cancel reply

Save my name, email, and website in this browser for the next time I comment.

Business Ideas in Hindi

जूते चप्पल की दुकान शुरू करें (How to Start Shoes Shop in Hindi)

जूते चप्पल की दुकान शुरू करें, बिजनेस, रिटेल दुकान, प्लान, लागत, लाभ, लाइसेंस, ब्रांड, मार्केटिंग (How to Start Shoes Shop in Hindi) (Retail Shop, Plan, Investment, Profit, License, Brand, Marketing)

हम सभी जानते हैं कि सबसे ज्यादा पैसे बिजनेसमैन कमाते हैं, इसलिए एक न एक बार हर व्यक्ति बिजनेसमैन बनने की ख्वाहिश जरूर रखता है। अगर आपकी ख्वाहिश सिर्फ एक ख्वाहिश नहीं बल्कि एक लक्ष्य है जिसे आप पूरा करना चाहते हैं, तो आप बिल्कुल सही जगह पर आए हैं। आज हम वर्तमान समय में चलने वाला एक बहुत ही खास बिजनेस जूते चप्पल की दुकान खोलने का बिजनेस कैसे कर सकते हैं? इसके बारे में आपको इंफॉर्मेशन प्रदान करने वाले हैं। अगर आप जूते चप्पल का बिजनेस करना चाहते हैं तो आर्टिकल को पूरा अवश्य पढ़ें।

shoes shop business in hindi

Table of Contents

जूते चप्पल की दुकान कैसे शुरू करें (How to Start Shoes Retail Shop)

जूते चप्पल का बिज़नेस शुरू करने के लिए आपको पूरी स्ट्रेटेजी यानि योजना बनानी होगी, कि यह बिज़नेस क्या है, आप इसे किस तरह से शुरू करेंगे आपको कितनी लागत लगेगी, कितना प्रॉफिट होगा, किस किस चीज की आवश्यकता होगी आदि, इसके बाद आपको इन पर एक-एक करके फोकस करते हुए इस बिज़नेस की शुरुआत आसानी से कर सकते हैं. आइये यहाँ हम आपको पूरी जानकारी दे रहे हैं –

जूते चप्पल का बिज़नेस क्या है (Shoes Shop Business)

जूते चप्पल का बिजनेस वह बिजनेस होता है जिसमें लोग अपने दुकानों पर जूते चप्पल बेचते हैं। ‌आजकल लोगों को स्टाइलिश कपड़े और जूते चप्पल पहनना काफी अच्छा लगता है। लोग अपने लिए अच्छे-अच्छे कपड़े ऑनलाइन तो आर्डर कर लेते हैं, लेकिन जूते चप्पल जैसी चीजों को दुकान से ही जाकर लेना पसंद करते हैं, इसलिए जूते चप्पल का बिजनेस काफी फायदेमंद बिजनेस है, क्योंकि यह साल के 12 महीने चलने वाला बिजनेस है और इस बिजनेस में लोगों को घाटा होने की संभावना काफी कम होती है, क्योंकि अगर आपके जूते चप्पल बिकेंगे नहीं तो वह खराब भी नहीं होंगे, परंतु जूते चप्पल रोजमर्रा की आवश्यकता होती है, इसलिए उनका बिकना तय होता है।

जूते चप्पल की दुकान के बिजनेस में सावधानियां

अगर आप जूते चप्पल की दुकान का बिजनेस शुरू करने के बारे में सोच रहे हैं तो ऐसे में आपको इस बिजनेस से संबंधित कुछ सावधानियों को भी ध्यान में रखना चाहिए, जो इस प्रकार है।

जूते चप्पल का बिजनेस शुरू हो जाने के बाद बढ़-चढ़कर अपने दुकान का प्रमोशन कीजिए क्योंकि प्रमोशन बिजनेस का एक जरूरी हिस्सा होता है। अगर आप इन बातों को ध्यान में रखते हैं तब आप आसानी से जूते चप्पल का बिजनेस शुरू कर सकते हैं।

जूते चप्पल की दुकान मटेरियल (Shoes Material and Variety)

अगर आप एक जूते चप्पल का बिजनेस शुरू करने के बारे में सोच रहे हैं तो आपको इस बात का पता जरूर होना चाहिए कि आप अपने दुकान पर किस तरह के जूते चप्पल बेचना चाहते हैं, क्योंकि बिना इस सवाल को जाने आप कभी भी अपना बिजनेस सही से नहीं कर पाएंगे। जूते चप्पलों की दुकान में अलग-अलग तरह के मटेरियल वाले जूते और चप्पलों की मांग होती है जैसे-

अलग-अलग लोग अपने जूते चप्पल के बिजनेस में अलग-अलग तरह के जूते और चप्पलों को बेचते हैं। जैसे कुछ लोग अपने दुकान पर हर मेटीरियल के जूते चप्पल बेचते हैं, वहीं कुछ लोग खास तरह के मटेरियल से बने जूते चप्पलों को ही बेचते हैं तो आपको यह देखना है कि आप अपने दुकान पर किस तरह के चप्पल और जूते बेचना चाहेंगे।इस बात का पता आप मार्केट रिसर्च करके और लोगों की डिमांड को जानने के बाद लगा सकते हैं।

जूते चप्पल की दुकान की बाजार में मांग (Market Research)

मार्केटिंग रिसर्च किसी भी बिजनेस को शुरू करने के लिए सबसे जरूरी चरण माना जाता है,क्योंकि इस चरण के अंतर्गत व्यक्ति को यह देखना होता है कि जिस तरह का वह बिजनेस शुरू करना चाहता है लोगों को उसकी जरूरत है या नहीं।दूसरी बात मार्केटिंग रिसर्च से पता चलता है कि मार्केट में लोग उस बिजनेस से संबंधित किन चीजों का प्रयोग कर रहे हैं। तीसरी बात मार्केटिंग रिसर्च से लोगों को उनके प्रतिद्वंदी के बारे में भी जानकारी मिलती है। अपने प्रतिनिधियों को समझ कर आप उनसे बेहतर परफॉर्मेंस के लिए अपनी अलग स्ट्रेटजी बना सकते हैं।

जूते चप्पल बिज़नेस में प्रतिद्वंदी (Competitor)

अगर आपके एरिया में पहले से ही किसी व्यक्ति का जूते चप्पल के दुकान का बिजनेस है तो आपको देखना चाहिए कि वह आदमी कैसे ग्राहकों को अपनी तरफ आकर्षित करता है। अपने प्रतिद्वंदीयो को पहचान कर आप अपने दुकान में उनसे कुछ अलग ट्राई करने की कोशिश कर सकते हैं। जब आप कुछ अलग करेंगे तब लोगों का ध्यान आपकी दुकान की और अवश्य आकर्षित होगा।

जूते चप्पल की दुकान किराये पर लें (Shoes Shop in Rent)

जूते चप्पल की दुकान का बिजनेस खोलने के लिए आपको सबसे पहले एक दुकान किराए पर लेना होगा। दुकान को किराए पर लेने के बाद आप उस दुकान को अपने हिसाब से डिजाइन करिए या करवाइए।आप चाहे इस बात को माने या ना माने लेकिन यह बात बिल्कुल सच है कि अच्छी जगह पर लोग अधिक जाना पसंद करते हैं। इसलिए आपको अपने दुकान को सुंदर बनाना जरूरी है।

जूते चप्पल की दुकान के लिए आवश्यक चीजें

जूते चप्पल की दुकान खोलने के लिए आपको अपनी दुकान में लकड़ी के चेंबर व ग्लास लगे हुए शोकेस, बिलिंग काउंटर और ग्राहकों के बैठने के लिए चेयर आदि आवश्यक चीजों की आवश्यकता होगी। ये सभी चीजें होने से लोग आपकी शॉप की ओर आकर्षित होंगे.

जूते चप्पल की सप्लाई के लिए होलसेलर से कांटेक्ट (Contact Wholesaler )

जब आप अपना दुकान किराए पर ले लेंगे और वह डिजाइन होकर पूरी तरह से तैयार हो जाएगी, तो ऐसे समय में आपको अपने दुकान में फेमस ब्रांडेड जूतों के साथ-साथ नॉन फेमस ब्रांड के भी जूते रखने होंगे।। इसके लिए आपको होलसेलर से कांटेक्ट करना पड़ेगा। होलसेलर से अगर आप अपने जूते चप्पल की सप्लाई के लिए बात कर लेंगे, तो आपको सही समय पर ज्यादा से ज्यादा माल सही दाम पर प्राप्त हो जाएगा। ऐसे में आप अपने ग्राहकों को अच्छी सेवा भी प्रदान कर पाएंगे।

जूते चप्पल की दुकान के लिए लाइसेंस (License)

जूते चप्पल का बिजनेस चलाने के लिए आपके पास लाइसेंस होना जरूरी है। अगर आप बड़े पैमाने पर यह काम कर रहे हैं तो आपको जल्द से जल्द लाइसेंस बना लेना चाहिए। MSME पंजीकरण करके आप अपने बिजनेस की शुरुआत आसानी से कर सकते हैं।

जूते चप्पल की दुकान में सबसे अच्छा ब्रांड (Shoes Brand)

जूते चप्पलों के अच्छे ब्रांड के बारे में जब भी हम सोचते हैं तो बाटा का नाम सबसे पहले हमारे दिमाग में आता है, लेकिन ऐसा नहीं है कि सिर्फ बांटा ही जूते चप्पल का सबसे अच्छा ब्रांड है, इसके अलावा भी बहुत अच्छे-अच्छे ब्रांड है जिनके नाम निम्नलिखित हैं –

अपना बिजनेस शुरू करने से पहले आपको इन सभी फेमस ब्रांड्स के ऊपर रिसर्च या यूं कहें कि केस स्टडी जरूर करनी चाहिए,क्योंकि इन सभी ब्रांड के बारे में जानकर आपको अपने बिजनेस के लिए कोई ना कोई अच्छा आईडिया जरूर मिलेगा, जो आपको आगे बढ़ने में भी मदद करेगा।

जूते चप्पल की दुकान के लिए निवेश (Investment)

जूते चप्पल दुकान के लिए पैसे की व्यवस्था (Money for Shoes Shop)

अगर आपके पास जूते चप्पल के बिजनेस को शुरू करने के लिए पूंजी कम पड़ रही है या आपके पास पैसा नहीं है तो आप अपने दोस्तों और रिश्तेदारों से मदद लेकर अपना बिजनेस शुरू कर सकते हैं। जैसा कि हमने आपको बताया कि अगर आप छोटे स्तर पर अपना बिजनेस शुरू करेंगे तो आपको ज्यादा पैसों की जरूरत नहीं होगी, जिससे आप अपने लोगों से थोड़ा सा पैसा उधार लेकर अपना काम शुरू कर सकते हैं।

जूते चप्पल की दुकान खोलने से फायदा (Profit)

प्रॉफिट किसी भी बिजनेस की जान होती है। कोई भी व्यक्ति प्रॉफिट कमाने के लिए ही बिजनेस शुरू करता है। जूते चप्पल के बिजनेस में काफी अच्छा फायदा देखने को मिलता है, लेकिन यह तभी हो सकता है जब आपके इलाके में इसकी डिमांड हो। इस बिजनेस के अंतर्गत अगर आप 1 दिन का कम से कम 1000 रुपए की प्रॉफिट भी कर लेते हैं तो महीने के आपको 30 हजार रुपए का फायदा आसानी से हो सकता है। अगर आपका छोटा सा बिजनेस है तो आपको बहुत ज्यादा फायदा भी नहीं मिलेगा। लेकिन अगर आप अपने जूते चप्पल के बिजनेस को सोच समझकर पूरी बिजनेस स्ट्रेटजी बनाकर व मार्केटिंग करके शुरू करते हैं तो आपको बाद में काफी अच्छा मुनाफा मिलेगा, क्योंकि किसी भी बिजनेस की असली पहचान लॉन्ग टर्म में होती है।

जूते चप्पल की दुकान की मार्केटिंग (Marketing)

किसी भी नए बिजनेस की तरफ लोगों का ध्यान आकर्षित करने के लिए प्रमोशन की आवश्यकता तो होती ही है। इसीलिए अगर आप अपना जूता चप्पल का बिजनेस शुरू कर लेते हैं, तो आपको प्रमोशन पर भी ध्यान देना चाहिए। प्रमोशन करने के लिए या प्रमोशन करते समय कुछ बातों को ध्यान में रखिए जैसे कि,

अब सारी चीजें कर लेने के बाद आपको कुछ नहीं करना है। आप बस अपने दुकान में बैठिए और जूते चप्पल बेचिए। जूते चप्पलों को बेचकर अब आप पैसे कमाईए और प्रॉफिट को भी बचा कर रखिए, क्योंकि यही प्रॉफिट आपको बाद में अपने बिजनेस को बड़ा करने में आपकी सहायता करेगी। अगर आप ऊपर बताई गई सभी बातों को ध्यान में रखकर अपने जूते चप्पल की दुकान खोलने का बिजनेस स्टार्ट करेंगे, तो आपको लाभ जरूर प्राप्त होगा, क्योंकि इस तरह के बिजनेस करने के पीछे का सीक्रेट बस यही है, तो आप जितना जल्दी हो सके उतना जल्दी पैसे की व्यवस्था कीजिए और अपने पसंद का काम करना शुरू कर दीजिए।

Q : जूते चप्पल के बिजनेस चलाने के लिए किन साधनों की जरूरत होती है ?

Ans : लकड़ी के चेंबर व ग्लास लगे हुए शोकेस, बिलिंग काउंटर और ग्राहकों के बैठने के लिए चेयर।

Q : क्या जूते चप्पल का बिजनेस शुरू करने के लिए रजिस्ट्रेशन की आवश्यकता होती है ?

Ans : छोटे स्तर पर अगर आप बिजनेस कर रहे हैं तो नहीं किन्तु बड़े स्तर पर जरुरत होती है।

Q : जूते चप्पल की दुकान खोलने के लिए कितनी लागत लगेगी ?

Ans : कम से कम 1 लाख रूपये

Q : जूते चप्पल की दुकान खोलने के लिए मटेरियल कहां से मिलेगा ?

Ans : व्होलेसलेर से बात करके

Q : जूते चप्पल की दुकान खोलने से कितना प्रॉफिट होता है ?

Ans : प्रतिमाह कम से कम 30 हजार रूपये

अन्य पढ़ें –

Leave a Comment Cancel reply

Happy to Advise

-Business Ideas in Hindi – Sabhi tarah ke vyapar ki Jankari ek Jagah Par

भारत में जूते चप्पल की दुकान कैसे खोलें, जानिए लागत, मार्जिन जैसी आवश्यक जानकारियां | How to Start Shoes Shop in Hindi

जूते चप्पल की दुकान शुरू करें

जूते चप्पल की दुकान कैसे खोलें, जूते चप्पल की दुकान शुरू करें, बिजनेस, रिटेल दुकान, प्लान, लागत, लाभ, लाइसेंस, ब्रांड, मार्केटिंग (How to Start Shoes Shop in Hindi) (Retail Shop, Plan, Investment, Profit, License, Brand, Marketing, Footwear Shop Business Plan in Hindi)

भारत में एक कहावत बहुत अधिक प्रचलित है – जीवन जीने के लिए तीन चीज़ें सबसे आवश्यक होती हैं – रोटी, कपड़ा और मकान. इसी कहावत पर एक फिल्म भी बन चुकी है. और कपड़ों में ही शामिल होते हैं जूते चप्पल. यानि फुटवियर इंसान की सबसे बेसिक ज़रूरतों में से एक है. और इंटरनेट के इस आधुनिक युग में लोग अपने आप को बेहतर ढ़ंग से स्टाइल करने में बहुत अधिक रुचि रखते हैं. ऐसे में फुटवियर का बिज़नेस करना निश्चित तौर पर एक बेहतरीन आइडिया है. लेकिन किसी भी व्यवसाय की शुरुआत करने के लिए कई रजिस्ट्रेशन, लाइसेंस आदि की आवश्यकता होती है. लेकिन आपको चिंता करने की ज़रूरत नहीं है. इस लेख में हम आपको जूते चप्पल की दुकान शुरू करने में आवश्यक जानकारी जैसे – (How to Start Shoes Shop in Hindi) , बिजनेस, रिटेल दुकान ( Retail Shop ) , प्लान Plan, लागत Investment, लाभ Profit, लाइसेंस  License, ब्रांड Brand, मार्केटिंग (Marketing) आदि के बारे में डीटेल से समझाएंगे. 

ये भी पढ़ें – रेस्टोरेंट बिज़नेस कैसे करें

इस लेख में शामिल

फुटवियर बिज़नेस क्या है

फुटवियर बिज़नेस में लगने वाली लागत

फुटवियर बिज़नेस में लाभ (profit).

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल (FAQs)

इस बिजनेस में व्यापारी जूते चप्पल का व्यापार करके लाभ (Profit) कमाता है. आमतौर पर यह बिजनेस दो तरीकों से होता है. पहला होलसेल तो वहीं दूसरा रिटेल दुकान ( Retail Shop )अभी अपनी निवेश राशि Investment के अनुसार इन दोनों में से किसी एक को चुन सकते हैं. आप चाहें तो किसी बड़े फुटवियर ब्रांड की फ्रैंचाइजी लेकर भी बिज़नेस शुरु कर सकते हैं. आपको अपने एरिया के बाजार, ग्राहक, स्थान आदि का रिसर्च अच्छे से करना होगा जिससे आप अपने बिज़नेस को शुरु कर के बेहतर लाभ (Profit) कमा सकें. 

जूते चप्पल की दुकान/बिज़नेस कैसे खोलें कैसे शुरु करें

किसी भी बिज़नेस को शुरु करने से पहले आपको कई चीज़ों को ध्यान में रखना होता है. जैसे आपको अपनी दुकान कहां खोलनी है और किस प्रकार का बिज़नेस करना है, आपको किस स्तर पर काम शुरु करना है और कितना निवेश करना है आदि. आपको जूते चप्पल का बिज़नेस शुरु करते समय निम्न बातें ध्यान में रखनी चाहिए.

ये भी पढ़ें – पेट्रोल पंप बिज़नेस कैसे करें

व्यवसाय का स्थान – किसी भी बिजनेस में सबसे आवश्यक होता है उसका स्थान. इसीलिए आपको बिज़नेस के लिए ऐसा स्थान चुनना चाहिए जहां आपके ग्राहक आसानी से आप तक पहुंच सकें. लेकिन अगर आप होलसेल बिजनेस शुरु करने के मूड में हैं तो आपको एक बड़ी दुकान चाहिए होगी. वहीं अगर आप रिटेल दुकान ( Retail Shop )शुरु कर रहे हैं तो एक मीडियम दुकान से भी शुरुआत की जा सकती है. 

आवश्यक संसाधन – फुटवियर बिजनेस के लिए आपको तमाम संसाधनों की भी आवश्यकता होगी. जैसे आपको अपने स्टोर में जूते-चप्पलों को प्रदर्शित करने के लिए वॉडरोब्स की आवश्यकता होगी वही ग्राहकों को फुटवियर चुनने में मदद करने के लिए कुछ कुशल स्टाफ की भी आवश्यकता होगी. 

मार्केट रिसर्च – आपको अपना फुटवियर बिजनेस शुरु करने से पहले मार्केट के बारे में अच्छे ढ़ंग से समझना चाहिए जैसे आपके ग्राहक कौन कौन हो सकते हैं, बाजार में पहले से कितनी फुटवियर की दुकान हैं, आप के लिए कौन सा स्थान सही रहेगा, आप किस सप्लायर से माल लेंगे आदि. इससे आपको बिज़नेस शुरु करने व उसे बेहतर ढंग से चलाने में मदद मिलेगी. 

ब्रांड मार्केटिंग (Marketing) – किसी भी व्यापार को बड़ा बनाने या उससे अधिक से अधिक लाभ (Profit) कमाने के लिए उसका अच्छे ढंग से प्रचार-प्रसार होना बहुत जरूरी है. इसके लिए आप दो तरीके अपना सकते हैं पहला ऑफलाइन जिसमें आप परंपरागत ढंग ( अखबार में विज्ञापन, होर्डिंग्स, पेम्पलेट आदि ) से अपनी दुकान का प्रचार-प्रसार कर सकते हैं. वहीं आप अपने बिजनेस की वेबसाइट व सोशल मीडिया पेज बना कर ऑनलाइन प्रमोशन कर सकते हैं.

जूते चप्पल बिज़नेस के लिए आवश्यक लाइसेंस व रजिस्ट्रेशन

किसी भी व्यापार को करने के लिए आपको कुछ ज़रूरी लाइसेंस व रजिस्ट्रेशन की अवश्यकता तो पड़ती ही है. तो आपको जूते चप्पल की दुकान के व्यवसाय के लिए भी कुछ जरूरी प्रक्रिया से गुजरना पड़ेगा. फुटवियर बिजनेस के लिए आपको जिन रजिस्ट्रेशन व लाइसेंस की आवश्यकता पड़ सकती है उनमें से कुछ निम्नलिखित हैं.

ये भी पढ़ें –   अमेज़न पर अपना बिज़नेस कैसे शुरु करें  

जैसे अन्य सभी व्यवसायों में लगने वाली लागत उनके प्रकार और आकार पर निर्भर करती हैं वैसा ही फुटवेयर बिजनेस में भी है. इसमें कई चीजें शामिल होती हैं जैसे कि आपकी दुकान में लगने वाली लागत (दुकान खरीदना या किराए पर लेना), जूते चप्पलों को प्रदर्शित करने के लिए लगने वाले फर्नीचर की लागत आदि. अगर आप छोटे स्तर पर इस बिजनेस की शुरुआत कर रहे हैं तो इसमें लगभग 2-5 लाख रुपए लग सकते हैं. वहीं अगर आप अपने बिज़नेस को बड़े स्तर पर करते हैं तो इसमें 5-20 लाख रुपए तक की लागत लग सकती है. ( यह अनुमानित लागत बिज़नेस के शहर आदि के आधार पर घट या बढ़ सकती है)

किसी भी बिजनेस से होने वाला लाभ (Profit) उसके साइज और व्यापार के शहर पर निर्भर करता है. लेकिन जब एक बार आपकी फुटवियर की दुकान मार्केट में अच्छी पहचान बना लेती है तो यह लाभ (Profit) 30 हजार रुपए से एक लाख रुपए तक होता है. वहीं अगर आप होलसेल बिजनेस कर रहे हैं तो मुनाफे की यह राशि लाखों तक जा सकती है. 

  ये भी पढ़ें – PhonePe से इंस्टेंट लोन कैसें लें

प्रश्न. फुटवियर बिज़नेस का भारत में क्या स्कोप है?

उत्तर: फुटवियर इंसान की सबसे बेसिक ज़रूरतों में से एक है. और इंटरनेट के इस आधुनिक युग में लोग अपने आप को बेहतर ढ़ंग से स्टाइल करने में बहुत अधिक रुचि रखते हैं. ऐसे में फुटवियर का बिज़नेस करना निश्चित तौर पर एक बेहतरीन आइडिया है.

प्रश्न. जूते-चप्पल का बिजनेस शुरु करने में कितनी लागत लगती है?

उत्तर: अगर आप छोटे स्तर पर इस बिजनेस की शुरुआत कर रहे हैं तो इसमें लगभग 2-5 लाख रुपए लग सकते हैं. वहीं अगर आप अपने बिज़नेस को बड़े स्तर पर करते हैं तो इसमें 5-20 लाख रुपए तक की लागत लग सकती है.

प्रश्न. जूते-चप्पल का बिजनेस शुरु करने में कौन-कौन से रजिस्ट्रेशन कराने होते हैं?

उत्तर: किसी भी व्यापार को करने के लिए आपको कुछ ज़रूरी लाइसेंस व रजिस्ट्रेशन की अवश्यकता तो पड़ती ही है. तो ऐसे में आपको जूते-चप्पल की दुकान के व्यवसाय के लिए भी कुछ जरूरी प्रक्रिया से गुजरना पड़ सकता है.

प्रश्न. जूते-चप्पल के बिजनेस से कितना लाभ (Profit) कमाया जा सकता है?

उत्तर: एक बार आपकी फुटवियर की दुकान मार्केट में अच्छी पहचान बना लेती है तो यह लाभ (Profit) 30 हजार रुपए से एक लाख रुपए तक होता है. वहीं अगर आप होलसेल बिजनेस कर रहे हैं तो मुनाफे की यह राशि लाखों तक जा सकती है.

प्रश्न. क्या मैं जूते-चप्पल के बिजनेस के लिए लोन ले सकता हूं?

उत्तर: जी हां, आप जूते चप्पल के बिजनेस के लिए किसी भी बैंक या एनबीएफसी से लोन ले सकते हैं. और आप सरकार की मुद्रा योजना के तहत भी लोन ले सकते हैं.

अन्य पढ़ें  – स्टेशनरी स्टोर कैसे शुरू करें आसानी से डाउनलोड करें यो व्हाट्सएप कास्टर आयल – बालों, आखों और त्वचा के लिए फाएदे भारत में आटा चक्की का बिज़नेस पापड़ बनाने का बिज़नेस कैसे शुरु करें भारत में जूते चप्पल की दुकान कैसे खोलें भारत में चाय का बिज़नेस कैसे शुरु करें भारत में बर्थडे की पार्टी का आयोजन कर के पैसे कमाएं भारत में रेडीमेड गारमेंट का बिज़नेस कैसे शुरु करें भारत में 2022 में मशरूम की खेती कैसे करें भारत में 2022 में हार्डवेयर की दुकान कैसे शुरु करें कम पढ़ी लिखी भारतीय महिलाओं के लिए टॉप बिज़नेस आइडिया किराना स्टोर का बिज़नेस कैसे शुरु करें क्रिप्टोकरेंसी क्या है भारत में एलईडी लाइट बिजनेस गैस एजेंसी डीलरशीप शुरु करने का तरीका भारत में कृषि सेवा केंद्र कैसे खोलें भारत में मिठाई की दुकान कैसे खोलें भारत में घर बैठे मसालों का बिजनेस कर पैसे कमाएं अपना कोचिंग सेंटर कैसे शुरू करें कुकिंग क्लासेस शुरू करके पैसा कमाएं सफल यूट्यूबर बनने के लिए ध्यान रखने योग्य 10 बातें घर बैठे ऑनलाइन पढ़ाई कैसे करें जानिए कब मनाई जाएगी दिवाली कार ड्राइविंग स्कूल शुरू कर के पैसा कमाएं सैनिटरी पैड बनाने का व्यापार कैसे करें ऐसे शुरू करें डाटा एंट्री बिजनेस टिफिन सर्विस शुरू कर पैसा कमाएं प्लांट नर्सरी बिजनेस शुरु करें शुरू करें मग प्रिंटिंग बिजनेस जन सेवा केंद्र खोलकर कर सकते हैं मोटी कमाई फेसबुक से घर बैठे होगी हजारों में कमाई जियो फाइबर ब्रॉडबैंड लगाने का ये है आसान तरीका किसान समृद्धि हॉस्टल का बिजनेस करें शुरु मुर्गी पालन शुरु कर बिना ईमली के सांभर अगरबत्ती बनाने का बिजनेस क्रिसमस सरप्राइज पार्टी मछली पालन बिजनेस मोमबत्ती बनाने का बिजनेस क्या है बिटक्वाइन में कैसे इनवेस्ट करें फ्लिपकार्ट एफिलिएट बिजनेस कैसे शुरु करें IRCTC पॉसवर्ड क्या होता है पीडीएफ फाइल क्या होता है आधार कार्ड सेंटर (केंद्र) कैसे खोले ऑनलाइन गेम्स क्यों देते हैं पैसा इंस्टाग्राम रील्स डॉउनलोड UAN ( PF ) number kaise nikale दोना पत्तल बनाने का व्यवसाय कैसे शुरू करें वेलेंटाइन डे क्या है

' src=

Author: Arora

Leave a reply cancel reply.

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Recent Posts

Copyright © 2023 Happy to Advise

Design by ThemesDNA.com

Business ideas

2023 में जूते चप्पल की दुकान कैसे खोलें ?पुरी जानकारी |How To Start Footwear Shop Business Plan In Hindi

जूते चप्पल की दुकान कैसे खोलें, लोकेशन, लागत, लाभ, मार्केटिंग, ऑनलाइन सेलिंग how to start footwear shop business plan in hindi

ऑफलाइन तरीके से बिजनेस करने की बात आती है तो कहीं न कहीं लोगो के मन में कपड़े और जुते चप्पल की दुकान का बिजनेस भी आता है. और क्यों न आय एन दोनो बिजनेस मे मुनाफा भी बहुत अच्छा कमाया जा सकता है. इसलिए आज हम आप के लिए जूते चप्पल की दुकान का बिजनेस लेके आय है. आज के समय में जूते चप्पल की डिमांड कितनी हैं यह तो आपको भी पता है. और नहीं पता तो आप अपने परिवार के सदस्य से पता लगा सकते हो कि एक एक व्यक्ति के पास कितने जोड़ी जूते चप्पल हैं.

उसके बाद आपको पता चल जाएगा कि जूते चप्पल की डिमांड कितनी है. इतना ही नहीं आने वाले समय में इस की मांग और भी बढ़ने वाली है. जिसके कारण जूते चप्पल की दुकान का बिजनेस शुरू करना लाभकारी साबित हो सकता है.

क्या आप भी जूते चप्पल की दुकान कैसे खोलें इसके बारे में जानना चाहते हो तो हमारे इस लेख को पूरा पढ़ें. क्यों की आज के इस लेख में हमने जूते चप्पल की दुकान कैसे खोलें और इसेस अधिक मुनाफा कैसे कमाए, पूरी जानकारी विस्तार पूर्वक बताई गई है.

जूते चप्पल की दुकान

Table of Contents

जूता चप्पल के बिजनेस का अनुभव प्राप्त करें ( Get Experience In Footwear Shop Business )

जूते चप्पल की दुकान कैसे खोलें यह जानने से पहले इसके बारे में पूरी जानकारी होना बहुत जरूरी है. तभी आप अच्छा मुनाफा कमा सकते हो फुटवियर बिजनेस प्लान की सही जानकारी न होने के कारण इसमें बहुत बड़ा नुकसान भी हो सकता है.

इसीलिए यदि आप इस बिजनेस में इंटरेस्टेड हो तो सबसे पहला काम आपका जूते चप्पल के बिजनेस का अनुभव लेना होना चाहिए. जिससे आपको juta chappal ki dukan के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त हो जाएगी और साथ ही आपको इस बिजनेस से जुड़े सारे सवालों की जानकारी प्राप्त हो जाएगी.

अनुभव प्राप्त करने के लिए आप अपने क्षेत्र के जूते चप्पल की दुकान या मोल पर 2 से 3 महीने काम कर सकते हो. लेकिन याद रहे यह समय हमने एक अनुमानित बताया है. जब तक आप जूते चप्पल की दुकान के बारे में सारी जानकारी प्राप्त नहीं कर लेते तब तक आप जूते चप्पल की दुकान या मॉल पर काम करना न छोड़े.

यह भी पढ़े – इलेक्ट्रॉनिक दुकान कैसे खोलें ?

स्थानीय स्तर पर रिसर्च करें ( Research Locally)

अनुभव लेने के बाद आपका अगला कदम स्थानीय स्तर पर रिसर्च करना होता है. अर्थात जिस जगह पर आप juta chappal ki dukan खोलना चाहते हो उस जगह पर आपके कंपीटीटर कितने हैं, उनकी दुकान पर दिन भर में कितने कस्टमर आते हैं, क्या उस क्षेत्र में जूते चंपल की डिमांड अधिक है या नहीं, उस क्षेत्र की दुकान का किराया क्या है, वह अपने बजट के हिसाब से सही है या नहीं, इसके अलावा आप यह जानने की कोशिश भी करें कि आपका कंपीटीटर 1 दिन में कितने जोड़ी जूते चप्पल बेच रहा है.

जिससे आपको एक रफ आइडिया मिल जाएगा कि स्थानीय स्तर पर जूते चप्पल की दुकान खोलकर कितना मुनाफा कमाया जा सकता है. चलिए जानते हैं कि स्टेप बाय स्टेप जूते चप्पल की दुकान कैसे खोलें ?

जूते चप्पल की दुकान कैसे खोलें ( How To Start Footwear Shop Business)

स्थानीय स्तर पर रिसर्च करने के बाद यदि आप उस क्षेत्र में जूते चप्पल की दुकान ( footwear shop ) खोलना चाहते हो तो आप सबसे पहले अपने बिजनेस के लिए योजना बना ले.जिसमे आपको जूते चप्पल की दुकान खोलने के लिए जगह की आवश्यकता होगी. और फिर आपको अपनी दुकान में डेकोरेशन करवाना होगा. जब दुकान पूरी तरह तेयार हो जाए तब आपको उस में माल भरने की आवश्यकता होगी. और माल खरीदने के लिए सप्लायर को ढूंढना होगा. चलिए इन सभी बिन्दुओं को एक एक करके विस्तार पूर्वक जानते है.

यह भी पढ़े – सीमेंट की दुकान का बिजनेस कैसे शुरू करे

जूता चप्पल की दुकान खोलने के लिए जगह ( Place In Shoes Business )

जूते चप्पल की दुकान खोलने के लिए आपको जगह की आवश्यकता होगी जिसके लिए आप निम्न बातों का ध्यान रखें.

जूते चप्पल की दुकान का सेटअप करें ( Decoration)

दुकान का चयन करने के बाद आपका अगला कदम दुकान का डेकोरेशन करना होगा. क्योंकि अक्सर आपने देखा होगा कि जूते चप्पल की दुकान ( footwear shop ) के बाहर या एंट्री गेट के पास एक ‌ बड़ा सा कांच का शीशा लगा होता है. जिसमे जूते चप्पल को सैंपल के रूप में रखा जाता हैं और कुछ अंदर भी कांच के बॉक्स बने होते हैं. जिसमें जूते चप्पल के अलग-अलग वैरायटी रखी जाती है, इसी तरह आपको भी जूते चप्पल की दुकान में कांच का बॉक्स और कुछ फर्नीचर लगाना है. जिसमें आप आसानी से जूते चप्पल को रख सको.

आज के समय में जूता चप्पल की दुकान के लिए कांच का बॉक्स बनाना बहुत जरूरी है. क्यों की आपकी दुकान में जो भी वैरायटी उपलब्ध है उन सभी वैरायटी को आप एक एक करके सभी ग्राहकों को नहीं दिखा सकते. इसीलिए आपको कांच के बॉक्स की जरूर होगी. जिसमे सभी प्रकार की वैरायटी के एक-एक सैंपल रखे जा सके. जिससे ग्रहको को जो भी वैरायटी पसंद आएगी आप उसे आसानी से दिखा सकते हो.

यह भी पढ़े – खाद बीज का दुकान कैसे खोलें

जूते चप्पल के बिजनेस लिए सप्लायर का चयन करें ( Select Supplier )

जब दुकान में इंटीरिय का काम पूरी तरह से हो जाए तब उसने आपको माल भरने की आवश्यकता होगी. जिसके लिए आपको सप्लायर का चयन करना होगा.

यदि आप जूता चप्पल की दुकान को बड़े शहर में शुरू करना चाहते हो तो वहां पर आपको आसानी से सप्लायर मिल जाएंगे. जिससे आप कांटेक्ट करके माल को आसानी से मंगवा सकते हो. लेकिन यदि आप छोटे शहर या छोटे क्षेत्र में शुरू कर रहे हो तो आपको वहां पर सप्लायर मिलना थोड़ा मुश्किल हो सकता है. इसलिए आप अपने स्थानीय क्षेत्र के आसपास के बड़े शहर से सप्लायर को ढूंढ कर उनसे कांटेक्ट कर सकते हो.

लेकिन आपको इस बात का जरूर ध्यान रखना है की शुरुआत में आपको एक ही सप्लायर से कांटेक्ट नहीं करना है. आप अलग-अलग दो या तीन supplier को ढूंढ कर उनसे बात कर सकते हो. इन सभी मैं से जो भी सप्लायर आपको माल कम दाम में उपलब्ध करवा रहा है. आप उसी से माल खरीदे. लेकिन क्वालिटी का जरूर ध्यान रखें. क्योंकि कई बार ऐसा होता है कि जो कम दाम में माल उपलब्ध करवा रहा है उसकी क्वालिटी में भी फर्क हो सकता है. इसीलिए कीमत के साथ साथ क्वालिटी का भी जरूर ध्यान रखें.

जूते चप्पल की दुकान के लिए फेमस ब्रांड का चयन करें ( Famous Brand)

जूते चप्पल की दुकान में आपको कुछ फेमस ब्रांड के जूते चमप्ल भी रखना होंगे. क्योंकि बहुत सारे लोग ब्रांड के जूते चप्पल पहनना ज्यादा पसंद करते हैं. इसलिए आपको कुछ फेमस ब्रांड जैसे Adidas,Bata,Nick Reebok, Puma, converse, Woodland,Fila, Lee Cooper, clarks, आदि के जुते चप्पल भी रखना होगे. इसके अलावा आपको नोकल कम्पनी के जुते चम्पल भी रखना होगे जो सस्ते रहते है क्यो की कई सारे लोग सस्ते जूते चप्पल भी पहनना पसंद करते है.

जूते चप्पल की दुकान में कर्मचारी ( Employee In Shoes Business)

वैसे तो इसे छोटे स्तर पर शुरू करने के लिए किसी भी कर्मचारियों की आवश्यकता नहीं होती है. लेकिन जब बात आती है बड़े स्तर पर शुरू करने की तो इसके लिए आपको एक या दो कर्मचारी की आवश्यकता होगी. जो आपके ग्राहकों को आसानी से जूते चप्पल दिखा सकें.

जूते चप्पल की दूकान की मार्केटिंग ( footwear shop Marketing)

जूते चप्पल की दुकान की मार्केटिंग करने की भी आवश्यक्ता होगी. क्यो की बिना मार्केटिंग के आप इस बिज़नेस से अधिक लाभ नहीं कमा पायगे क्यों कि जब तक लोगो को आपके इस बिज़नेस के बारे में पता नहीं चलेगा तब तक लोग आपकी दुकान पर नहीं आयगे इसलिए. लोगों को आपके इस बिजनेस के बारे बताने के लिए आपको मार्केटिंग करने कि आवश्यकता होगी.

मार्केटिंग के लिए आप अपने बिजनेस के नाम का पोस्टर या पंपलेट छपवा कर बटवा सकते हो या फिर आप चाहो तो इन पैंपलेट को न्यूज पेपर में डाल कर घर घर तक पहुंचा सकते हो. इसके अलावा आप मार्केटिंग के लिए सोशल मीडिया का सहारा भी ले सकता हो. जिसमें आप अलग अलग प्लेटफार्म जैसे व्हाट्सएप, फेसबुक, इंस्टाग्राम, टेलीग्राम पर अपने बिजनेस मॉडल को शेयर कर सकते हों.

जूते चप्पल की दुकान शुरू करने में लागत (Footwear Shop Business Cost)

जूते चप्पल की दुकान में लागत की बात की जाए तो इसमें आपको सारे खर्च को जोड़ना होगा.जैसे दुकान का किराया, उसकी डेकोरेशन का खर्च, माल खरीदने का खर्च, ट्रांसपोर्ट का खर्च, मार्केटिंग और अन्य खर्च को मिलाकर आपको बड़े स्तर के बिजनेस के लिए 4 से 5 लाख रुपए की आवश्यकता होगी.

और वही यदि आप juta chappal ki dukan को छोटे स्तर पर शुरू करना चाहते हो तो आपको 1 से 2 लाख रुपए की आवश्यकता होगी.

जूते चप्पल को ऑनलान कैसे बेचे ( How To Sell Online Shoes)

दोस्तों आप जूते चंपल को ऑनलाइन भी बेच सकते हो. जूते चप्पल की दुकान खोलकर आप अपने क्षेत्र के ग्राहक को तो जूते चप्पल बेच ही सकते हो. लेकिन इसके अलावा आप जूते चंपल को ऑनलाइन बेचकर भी लाखों रुपए कमा सकते हो.चालिए जानते है कि जूते चप्पल को ऑनलाइन कैसे बेचे.

वेबसाइट बनाकर: दोस्तो आप अपने बिजनेस के नाम की वेबसाइट बनाकर बहुत ही आसानी से जुते चप्पल को बेच सकते हो. वेबसाइट बनाने के लिए आपको एक domain और hosting की जरूरत होगी. जिसे खरीद कर आप बहुत ही आसानी से यूट्यूब की सहायता से वेबसाइट बना सकते हो.

इंस्ट्राग्राम के जरिए: आज के समय में इंस्ट्राग्राम बहुत ही पोपुलर प्लेटफॉर्म बन चुका है. इसके जरिए भी आप अपने जुते चप्पल को बेच सकते हो. इसके लिए सबसे पहले आपको एक इंस्ट्राग्राम पेज बनाना होगा और फिर उस पर आप हर रोज अलग अलग वैरायटी के जूते चप्पल की फोटो शेयर कर सकते हो. जब धीरे धीरे आपके follower बढ़ने लगते तब आपको इंस्ट्राग्राम से भी सेल आने लगेंगी. लेकिन इस प्रोसेस में आप को थोड़ा समय लग सकता है इसलिए आप धीरज बनाए रखे.

Fecbook के माध्यम से: इस पर भी आपको इंस्ट्राग्राम की तरह पेज बनाना होगा और फिर जब आपके अच्छे खासे फॉलोवर बन जाएगे तब आपको यहां से भी सेल आने लगेंगी.

Amazon के माध्यम से: अमेजॉन के बारे में तो आपको भी पता होगा. यह एक बहुत बड़ा प्लेटफार्म है. इसके जरिए आप अमेजॉन सेलर बनके अपने प्रोडक्ट को आसानी से बेच सकते हो. अपने प्रोडक्ट को बेचने के लिए आपको अमेजॉन सेलर अकाउंट बनाना होगा. जो कि आप यूट्यूब की सहायता लेकर बहुत ही आसानी से बना सकता हो.

जूता चप्पल की दुकान में लाभ ( Shoes Business Profit)

जूते चप्पल की दुकान को अच्छे ढंग से और अनुभव लेकर शुरू किया जाए तो इससे शुरुआती दौर में 30 से 40 हजार रुपए महीना आराम से कमाया जा सकता है. जब आप इस फील्ड में एक्सपर्ट बन जाएंगे और लोग आपको पहचानने लगेंगे तब आप इस बिजनेस से और भी अच्छा मुनाफा कमा सकते हो.

इसके अलावा जूते चप्पल को आप ऑनलाइन बेचकर भी आप अच्छा खासा मुनाफा कमा सकते हो. लेकिन ऑनलाइन मैं आपको थोड़ा समय लग सकता है. इसीलिए आपको धीरज रख कर काम करना होगा. यकीन मानिए दोस्तों यदि आपने एक बार ऑनलाइन प्रोडक्ट को बेचना सीख लिया तो आप इस बिजनेस से लाखों रुपए महीना कमा सकते हो. इसीलिए आपको अपने प्रोडक्ट को ऑनलाइन बेचने पर जरूर ध्यान देना चाहिए.

जूते चप्पल का बिजनेस शुरू करने के लिए कुछ जरूरी टिप्स ( Important Tips)

जूते चप्पल के बिजनेस से अधिक मुनाफा कमाने और अपनी बिक्री को बढ़ाने के लिए आप हमारा द्वारा बताई गए कुछ टिप्स को फॉलो कर सकते हैं.

उम्मीद करता हूं दोस्तों आपको जूते चप्पल की दुकान कैसे खोलें इसके बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी. और यदि फिर भी आपके मन में इससे रिलेटेड कोई सवाल और सुझाव हो तो आप हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं.

यदि आपको हमारे द्वारा लिखा गया लेख “जूते चप्पल की दुकान कैसे खोलें ” पसंद आया हो तो आप अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें.

जूते चप्पल की दुकान कैसे खोलें ?

जूता चप्पल की दुकान खोलने के लिए निम्न स्टेप को फॉलो करें. • अनुभव प्राप्त करें • दुकान किराए से ले • दुकान को पूरी तरह से सेट करें • माल खरीदने के लिए सप्लायर को ढूंढो • अच्छी ब्रांड और लोकल ब्रांड के जूते भी रखें • बिजनेस की मार्केटिंग करें • जूते चप्पल को ऑनलाइन बेचे

जूते चप्पल की दुकान खोलकर कितना लाभ कमाया जा सकता है ?

इस बिजनेस में शुरुआती दौर मे 30 से 40 हजार रुपए का मुनाफा कमा सकते हैं. जब धीरे-धीरे इस बिजनेस में एक्सपर्ट बनते जाओगे आपको मुनाफा भी बढ़ता जाएगा.

जूते चप्पल की दुकान खोलने के लिए कितने पैसे की आवश्यकता होती हैं ?

इसे छोटे स्तर पर शुरू करने के लिए 1 से 2 लाख रुपए की आवश्यकता होगी. और यदि आप इसे बड़े स्तर पर शुरू करना चाहते हो तो आपको 4 से 5 लाख रुपए की आवश्यकता होगी.

जूते चप्पल को ऑनलाइन कैसे बेचे ?

जूते चप्पल को ऑनलाइन प्लेटफार्म जैसे अमेजॉन, इंस्टाग्राम, फेसबुक और वेबसाइट बनाकर अपने जूते चप्पल को ऑनलाइन आसानी से बेच सकते हो.

जूते चप्पल की बेस्ट ब्रांड कौन-कौन सी हैं ?

जुते चप्पल की बेस्ट ब्रांड जैसे Adidas,Bata,Nick Reebok, Puma, converse, Woodland,Fila, Lee Cooper, clarks, आदि है.

IMG 20220528 204536

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम अर्जुन पाटीदार है. मैं पिछले दो सालों से कंटेंट राइटिंग कर रहा हूं, यह ब्लॉग इसी वर्ष शुरू किया है । इस ब्लॉग को बनाने का मुख्य उ्देश्य लोगों को नए नए बिजनेस आईडिया के बारे में बताने का है.

Related posts:

Dog breeding business

Leave a Comment Cancel reply

Save my name, email, and website in this browser for the next time I comment.

shoes business plan in hindi

Footwear Business Plan in Hindi / जूता चप्पल की दुकान कैसे खोले?

जूता चप्पल का बिजनेस

Footwear Business Plan in Hindi

जूता -चप्पल का बिजनेस पुरे ग्लोबल में बहुत बड़ा मार्किट हैं. क्योंकि इस प्रोडक्ट का उपयोग दुनिया में पैदा लिए हर एक इंसान करता हैं चाहे वह महिलाऐं हो या पुरुष. ऐसे में आप इस बिजनेस को कर के अच्छी खासी मुनाफा कमा सकते हैं.

जूता- चप्पल का बिजनेस एक ऐसा बिजनेस हैं जिसकी कोई सीजन नहीं होती सभी मौसम और सभी समय बिकने वाला प्रोडक्ट हैं. यह बिजनेस बहुत ही शानदार बिजनेस के साथ-साथ एक शानदार प्रोफिटेबल बिजनेस हैं.

यह बिजनेस ऐसा बिजनेस हैं. यदि आप इस बिजनेस को बहुत अच्छे ढंग से करते हैं. तो आपको लाखो-करोड़ो रुपए कमाकर यह बिजनेस आपको दे सकती हैं. इस बिजनेस को करने के लिए आपको मार्केट की विशेष नॉलेज होना चाहिए. आप शुरुवात में मार्केट एक्सपर्ट की राय से भी इस बिजनेस की शुरुवात एक बेहतरीन तरीका से कर सकते हैं. और अधिक से अधिक इस बिजनेस से मुनाफा कमा सकते हैं.

जुता-चप्पल की व्यवसाय को प्रारंभ करने के पूर्व आपको  इस व्यवसाय की गहन अध्ययन करना चाहिए. आपको इस बिजनेस में प्रोडक्ट मांग की जानकारी हो जाएगी. आप जूता-चप्पल को फैशन डिजाईनिग तथा क्वालिटी की डिमांड के हिसाब से रखेंगे जिससे की आपको  प्रोडक्ट ज्यादा स्टॉक करने की जरुरत नहीं होगी.

Footwear Business Plan in Hindi

 जूता–चप्पल का बिजनेस कैसे शुरू करें?/How Start Shoe Slipper business in India

यदि जूता–चप्पल का बिजनेस करना चाहते हैं तो आप बिजनेस की शुरुवात के लिए आपको चाहिए –

जूता–चप्पल का व्यपारी किसे कहते हैं?

ऐसे व्यक्ति जो जूता-चपल बेंचता हैं. या जूता-चप्पल की होलसेल व्यापार करता हो या जूता-चप्पल की मेन्युफेक्चरिंग करता हो. उसे हम जूता-चप्पल की व्यापारी कहते हैं. 

जूता-चप्पल का दूकान कहाँ पर खोलना चाहिए?

यदि आप जूता-चप्पल की बिजनेस करना चाहते हैं. तथा आप दुकान खोलना चाहते हैं. तो आपको ऐसे स्थान तथा जगह का चुनाव करना चाहिए जहाँ मार्केट प्लेस हो साथ ही वहाँ की जनसँख्या ज्यादा आबादी वाली हो तथा रिहायसी स्थान हों.

जूता चप्पल की बिजनेस को आप कस्बो तथा बड़े शहरो के रोड किनारे भी खोल सकते हैं जहाँ लोगो का आना-जाना निरंतर बना होता हैं. छोटे-छोटे गावों के लोग शहर में अपनी जरूरती समान की खरीद्दारी करने शहरों के मार्केटो में जाते हैं. ऐसे में आप वहां पर मार्किट प्लेस या रोड के किनारे अपना जूता-चप्पल का बिजनेस कर सकते हैं.

जूता-चप्पल का बिजनेस कितने प्रकार से किया जा सकता हैं?

जूता–चप्पल का बिजनेस बहुत बड़ा है और इस बिजनेस को विभिन्न तरीको से किया जा सकता है. इस बिजनेस को तीन प्रकार से किया जा सकता है.

पहला लो इन्वेस्टमेंट

दूसरा मिडिल इन्वेस्टमेंट

तीसरा हाई इन्वेस्टमेंट से आप इस बिजनेस को अपने बजट के हिसाब से इन्वेस्टमेंट कर सकते है.

जूता-चप्पल का बिजनेस कम बज़ट में कैसे करें ?  

यदि आपके पास कम पैसा है और आप यह बिजनेस करना चाहते हैं. तो आप इस बिजनेस को कम तथा छोटे बजट के रूप में भी इस बिजनेस को स्टार्ट कर सकते है. आप इस बिजनेस को कम बजट में करने के लिए किसी अच्छे होलसेलर से जूता-चप्पल खरीद कर बिजनेस कर सकते हैं. और शुरुवात के समय  20 हजार रुपए के निवेश से आप जूता–चप्पल की खरीददारी होलसेल में कर सकते हैं. किसी गावं या कस्बो में या वहां के सब्जी मार्केट या रोड के किनारे में अपने जूता–चप्पल का बिजनेस कर सकते हैं.

जूता–चप्पल बिजनेस कौन-कौन  कर सकता है?

जुत –चप्पल का बिजनेस वर्तमान समय से नहीं बल्कि इसकी डिमांड भूतकाल से हैं. क्योंकि बिना- जूता चप्पल के इंसान कही भी चलना पसंद नहीं करते तथा यह हमारे पैर को सुरक्षा प्रदान करता हैं. और जूता-चप्पल हमारे शारीर का अभिन्न अंग है. क्योंकि इसके बगैर हम एक कदम भी घर से बहार नहीं चला जा सकता है.

इस बिजनेस में कम पैसा लगा कर अधिक पैसा कमाया जा सकता इस बिजनेस को नौंनटेक्निकल, हो या टेकनिकल ज्ञान रखता हों, या न रखता हो कम पढ़ा लिखा महिलाएँ एवं पुरुष आसानी से कर सकता है. अगर कम पढ़ा है तो भी कर सकता है यदि ज्यादा पढ़ा लिखा है तो और अच्छा से इस बिजनेस को कर सकता है.

जूता- चप्पल  का बिजनेस बहुत ही प्रोफिटेबल बिजनेस आडिया है और ज्यादातर जो जूता चप्पल  की बिजनेस कर जो रहा है वह बहुत मुनाफा कमा रहे हैं.

जूता-चप्पल का बिजनेस कब करना चाहिए?

जूता चप्पल का बिजनेस का कोई खास सीजन या त्यौहार नहीं होता इस बिजनेस को हर मौसम में किया जा सकता है. लेकिन जूता –चप्पल बिजनेस को आपको  दिवाली समय में करना ज्यादा बेहतर होता हैं. तथा शादी के समय दुल्हन और दुल्हे के लिए भी जूता-चप्पल की बहुत आवश्यकता होती हैं.ठण्ड के समय ठण्ड अधिक होने के कारण जूता की डिमांड काफी हद तक ठण्ड के समय भी बढ़ जाती हैं.

इसलिए यदि आप बिजनेस शुरू कर रहे है तो ठंड और दिवाली के पहले बिजनेस शुरू करो जिससे आपको बिजनेस को शुचारु रूप से चलाने में बहुत अधिक लाभ मिले. इसी तरह कोई भी त्यौहार के समय या शादी  के समय में इस बिजनेस को करना ज्यादा अच्छा रहता है. लेकिन दोस्तों इस बिजनेस का डिमांड सभी दिन होता है क्योंकि जुता चप्पल लोग प्रति दिन और हर समय पहनते हैं.

जूता-चप्पल का बिजनेस खोलने में कितना पैसा लगेगा?

जूता चप्पल की बिजनेस में आने वाले लागत? जूता-चप्पल की बिजनेस करने के लिए आप अपने बजट के हिसाब से पैसा निवेश  कर सकते हैं.

यदि आपके पास कम पैसा हैं और आप जूता-चप्पल का बिजनेस कम बजट से शुरू करना चाहते हैं. आप गावं या कस्बे से हैं तथा आपका गावं या कस्बा शहर से दूर हैं. तो आप गावं तथा कस्बा के हिसाब से कम इन्वेस्टमेंट कर सकते हैं. आप 30 से 50 हजार रुपए के निवेश से जूता-चप्पल का बिजनेस शुरू कर सकते हैं.

यदि आप ऐसे स्थान में रहते हैं जो रिहायसी स्थान हैं. जहाँ लोगो की जनसँख्या अधिक हैं और शहरी ईलाका हैं तथा वहाँ की मार्केट बड़ी है. और जूता चप्पल  की दुकान खोलना चाहते हैं और आपकी बजट थोड़ी ज्यादा हैं. तो ऐसे में आप 2 से 4 लाख रुपए के इन्वेस्टमेंट के साथ यह बिजनेस स्टार्ट कर सकते हैं.

यदि आपका बजट बहुत अधिक हैं और आप बड़े स्तर पर जूता-चप्पल का बिजनेस करना चाहते हैं. तो आप  होल सेल का दुकान खोल कर जूता-चप्पल का बिजनेस कर सकते हैं. और इस बिजनेस में इन्वेस्टमेंट की बात करें तो 10 से 15 लाख रुपए तक की लागत आ सकता हैं.

जूता-चप्पल की बिजनेस के लिए कितनी जगह चाहिए?

जूता-चप्पल का बिजनेस करने के लिए 12 बाई 14 के एक कमरा से शुरू कर सकते हैं. यदि आप बड़े स्तर पर बिजनेस करना चाह रहे हैं. तथा आप अपना जूता-चप्पल का बिजनेस शहरी इलाका में खोलना चाहते हैं. तो इसके लिए आपको 400 से 600 स्कवायर फिट तक की जमींन की जरुरत पड़ सकती हैं. क्योंकि होलसेल बिजनेस में ज्यादा बड़ी जमींन की आवश्यकता होती हैं.

जूता-चप्पल का दूकान कैसे स्थानों पर खोलना चाहिए?

जूता-चप्पल का बिजनेस कहाँ करना चाहिए? जूता-चप्पल का दुकान खोलने के लिए रिहायसी जगह उपयुक्त मानी जाती हैं. जहाँ लोगो की जनसँख्या अधिक हो जिससे की बिजनेस की ज्यादा चलने की संभावनाएं होती हैं. और बिजनेस में मुनाफा होती हैं. जूता-चप्पल का दुकान को ऐसे जगह खोलना चाहिए जहाँ लोग अधिक आते-जाते हो तथा भीड़-भाड़ वाला क्षेत्र हो.

 आप अपने जूता-चप्पल की बिजनेस के लिए निम्न स्थानों का चयन कर सकते हैं.

जूता-चप्पल  बिजनेस में कितना मुनाफा होता है?

जूता–चप्पल बिजनेस में होने वाले मुनाफा बहुत ज्यादा होता है. क्योंकि यह कम इन्वेस्टमेंट में अधिक मुनाफा वाला बिजनेस है. जूता चप्पल  बिजनेस की मुनाफा निर्भर करता है. की आप कितने बड़े पैमाना में बिजनेस की शुरुवात  कर रहे है अगर छोटे रूप में कर रहे है तो छोटे बिजनेस के तौर से मुनाफा मिलेगा यदि आप बड़े रूप में कर रहे है. तो मुनाफा बड़े पैमाना के तौर पर होने वाला है. यह बिजनेस बहुत ही मुनाफा देने वाली बिजनेस है. इस बिजनेस की खास बात यह भी है की ज्यादा कम्पीटीशन न होने के कारण आप तेजी से इस बिजनेस के द्वारा आगे बढ़ सकते है.

इस बिजनेस में मुनाफा की बात करे तो यदि आप छोटे स्तर पर यह बिजनेस गावं कस्बों या शहरों  के किसी चौक –चौराहा या सब्जी मार्केट के पास जूता-चप्पल की दुकान खोल कर सकते हैं तो आप महिना के 20 से 30 हजार रुपए आसानी से मुनाफा कमा सकते हैं.

यदि आप इस बिजनेस को बड़े पैमाना में करते हैं तथा आप जूता-चप्पल की बड़ी दुकान शहर के किसी अच्छे मार्केट वाले स्थान से कर रहें हैं. या आप चूता-चप्पल की होलसेल बिजनेस करते हैं तो आप महीना के 1 लाख से 4 लाख रुपए तक की मुनाफा कमा सकते हैं.

जूता- चप्पल का  बिज़नस से जुड़े हुए कुछ महत्वपूर्ण सवाल 

जूता चप्पल का बिजनेस कहाँ पर शुरू करें.

उत्तर – जूता चप्पल का बिजनेस का शुरुवात आप गावं तथा शहर दोनों जगहों से कर सकते है. जहाँ लोगो की जनसँख्या ज्यादा हो क्योंकि जितनी लोग रहेंगे आपको उतना ही ज्यादा आपकी जूता–चपल की दुकान चलेगा.

जूता-चप्पल का बिजनेस शुरू करने में कितना पैसा लगेगा?

उत्तर – यदि आप छोटे लेवल पर जूता–चपल का बिजनेस  करना चाहते है. तो आपको 30 से 50 हजार लागत लगाने की जरुरत होगी. यदि आप बड़े स्तर पर जूता–चपल का बिजनेस करते हैं तो आपको 2 से 4 लाख रुपए की निवेश की जरुरत पड़ती हैं. तथा आप होलसेल में जूता–चपल का बिजनेस करते हैं. तो आपको 10 से 50 लाख रुपए की निवेश की जरुरत पड़ती हैं

जूता-चप्पल के बिजनेस में कितने प्रकार के लाइसेंस लगते है?

उत्तर – जूता-चप्पल का बिज़नस अगर आप छोटे स्तर से शुरू कर रहे है. तो आपको लाइसेंस की जरुरत बिलकुल भी नहीं पड़ेगी और यदि बड़े लेवल से शुरू कर रहे है तो आपको लाइसेंस की जरुरत जरुर पड़ेगी.  यदि आप जूता-चप्पल की बिजनेस यदि बड़े स्तर से कर रहें है. तो लाइसेंस की आवश्यकता पड़ेगी जूता-चप्पल का शॉप में ट्रेड लाइसेंस और मेन्युफेक्चरिंग कर रहे हैं. तो फैक्ट्री लाइसेंस, और MSME रजिस्ट्रेशन की आवश्यकता तथा GST नंबर की जरुरत होगी.          

जूता-चप्पल का बिजनेस में कितना मुनाफा है?

जूता-चप्पल का बिजनेस में मुनाफा की बात करे. तो इसमे बहुत ही ज्यादा मुनाफा है. जिस तरह से बिजनेस में आपकी निवेश होगी उसी तरह  से आपका मुनाफा भी रहेगा. यदि आप बड़े लेवल में इस बिजनेस को करते हैं. तो आप महिना के 1 से 4  लाख रुपए से भी ज्यादा कमा सकते है.

तो दोस्तों उम्मींद करता हूँ यह लेख जूता-चप्पल का बिज़नस कैसे करें? (Footwear Business Plan in Hindi) आपको बहुत पसंद आया होगा। अगर आपको यह लेख जूता-चप्पल का बिज़नस (Footwear Business Plan in Hindi) पसंद आया हो तो लाइक करें। और इन्हें लोगो को शेयर करें, ताकि वो भी इस जूता-चप्पल  बिज़नस आइडियाज (Footwear Business Plan in Hindi )  को अपने एरिया में शुरू करके अच्छी मुनाफा ले सके।

यदि आप कोई सवाल आप पूछना चाहते है तो निचे  Comment Box में जरुर लिखे और अगर आपके  सुझाव है तो जरुर दीजियेगा। दोस्तों हमारे अन्य वेबसाइट computervidya.com  एवं YouTube चैनल  Computervidya  को अगर आप अभी तक सब्सक्राइब नहीं किये तो तो जरुर  सब्सक्राइब  कर लेवें।

RELATED ARTICLES MORE FROM AUTHOR

Paper bag business ideas: आज ही शुरू करे पेपर बैग मेनुफेक्चरिंग बिज़नस, कम लागत में अधिक कमाएं, टेंट हाउस को कैसे शुरू करें how to start tent house in india, मिठाई की दुकान कैसे खोलें / sweet shop business plan in hindi.

[…] जूता चप्पल की दुकान कैसे खोले? […]

LEAVE A REPLY Cancel reply

Save my name, email, and website in this browser for the next time I comment.

Small Business Ideas: घर से शुरू करके इन बिज़नेस से कमाये...

जूते-चप्पल की दुकान कैसे खोलें | Footwear Shop Business Plan in Hindi

जूते-चप्पल हर इंसान की एक जरूरत है, आप कहीं पर भी बिना जूते-चप्पल के नहीं जा सकते हैं। आजकल जूते न केवल पैरों की रक्षा के लिए पहने जाते हैं, बल्कि ये एक फैशन भी बन चुके हैं। इनका उपयोग पुरुष और महिलाओं दोनों के द्वारा किया जाता है, जिनमें बच्चे भी शामिल है।

हमारे पैर हमारे दैनिक जीवन का आधार हैं, एक प्रकार से यह हमारी नींव है। इस कारण हर अच्छी नींव को सही सहारा मिलना जरूरी होता है। जूते-चप्पल हमारे पैरों की रक्षा करते हैं, इस कारण इनकी क्वालिटी अच्छी होना बहुत जरूरी है। एक फ़ैक्ट की बात है, कि दुनिया में आज भी 60 करोड़ लोगों के पास पहनने के लिए जूते-चप्पल नहीं है।

अच्छे जूते पहनना दैनिक जीवन का एक पहलू है जिस पर लोग बहुत कम ध्यान देते हैं। दर्द जो लोगों को दिन भर होता है जैसे पीठ दर्द और पिंडली में मोच, ज्यादातर पैरों से शुरू होता है। हर किसी के पैर में 10 उंगलियां होती हैं लेकिन हर पैर एक जैसा नहीं होता।

जूते-चप्पल की मांग दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है। इस कारण कुछ लोग इस मांग को एक बिजनेस के रूप में भुना रहे हैं। अगर आप भी जूते-चप्पल की दुकान खोलना चाहते हैं, तो यह आपके लिए एक सुनहरा अवसर है। आपका टार्गेटेड मार्केट प्रत्येक इंसान है, बस आपको अपनी इनवेस्टमेंट के हिसाब से नॉन ब्रांडेड और ब्रांडेड में से एक प्रकार का चयन करना है।

Table of Contents

फूटवियर इंडस्ट्री

footwear business plan in hindi

2021 में इंडिया फुटवियर मार्केट का आकार 13.49 बिलियन अमेरिकी डॉलर  था और 2027 तक कुल राजस्व 12.83% की CAGR से बढ़ने की उम्मीद है, जो लगभग 27.84 बिलियन डॉलर तक पहुंच जाएगा। फुटवियर मानव निर्मित कपड़ों का एक प्रकार है जो तलवों सहित पूरे पैर को घेरता है और उसकी सुरक्षा करता है।

मोशन कंट्रोल, स्टेबिलिटी और न्यूट्रल तीन तरह के फुटवियर हैं। मोशन कंट्रोल फुटवियर सबसे आरामदायक और सुधारात्मक जूते हैं। कैजुअल, मास, एक्टिव/स्पोर्ट, लेदर और नॉन-लेदर फुटवियर के प्रॉडक्ट प्रकार हैं। महिलाएं, पुरुष और बच्चे सभी फुटवियर का इस्तेमाल करते हैं।

ऑनलाइन और ऑफलाइन भारतीय फुटवियर की बिक्री के दो प्रकार हैं। यूरोपीय संघ को 1660.41 मिलियन अमेरिकी डॉलर और अमेरिका को 312.21 मिलियन अमेरिकी डॉलर के निर्यात के साथ, भारत अपने लगभग 78% जूते यूरोपीय देशों और संयुक्त राज्य अमेरिका को बेचता है। यूरोप और संयुक्त राज्य अमेरिका में, भारत के जूते बहुत लोकप्रिय हैं।

इंटरनेट यूजर्स की बढ़ती संख्या और कई सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म की शुरूआत ने भारतीय ग्राहकों की खरीदारी की आदतों को काफी हद तक बदल दिया है। तेजी से शहरीकरण, अधिक ब्रांड जागरूकता और बढ़ते विवेकाधीन बजट ने फुटवियर उद्योग के विकास में लाभ पहुंचाया है, जिससे उपभोक्ताओं के दिमाग में यह एक स्टेटस सिंबल इमेज बन गया है।

भारत में लगभग 66% फुटवियर की बिक्री शहरी क्षेत्रों में होती है, शेष 34% ग्रामीण क्षेत्रों में होती है, जिससे फुटवियर उद्योग को बढ़ने के लिए काफी जगह मिलती है। हालाँकि समझ विकसित करने, खर्च करने योग्य आय में वृद्धि और बदलती जीवन शैली के कारण, उन जगहों पर बिक्री उत्तरोत्तर गति पकड़ रही है।

भारत में घरेलू जूतों की खपत लगभग 90% होने का अनुमान है। बदलती जीवनशैली और बढ़ती प्रयोज्य आय के परिणामस्वरूप घरेलू मांग में तेजी से वृद्धि होने की उम्मीद है। इस बाजार में भी वॉल्यूम तेजी से बढ़ा है, उदाहरण के लिए, 2015 में 22.8 करोड़ जूते चप्पल बिके थे जो 2019 में 27.8 करोड़ हो गए।

भारत में फुटवियर निर्माताओं को बड़ी मात्रा में कम लागत वाले कच्चे माल की उपलब्धता के साथ-साथ कम श्रम लागत से लाभ होता है। जिसके परिणामस्वरूप उत्पादन लागत कम होती है, जिससे इस क्षेत्र में समग्र कीमतें कम हो जाती हैं। दुनिया के सबसे बड़े निर्माताओं में से एक होने के बावजूद, भारतीय फुटवियर उत्पादन कंपनियां अपने उत्पादों की ब्रांडिंग और बिक्री में अक्षम हैं।

जूते-चप्पल की दुकान कैसे खोलें?

jute chappal ki dukan kaise khole

फैशन और फुटवियर उद्योग दुनिया को बदल रहे हैं। जूते आपके पैरों को सुरक्षित और आरामदायक रखने का एक तरीका मात्र नहीं रह गए हैं। ये अब एक फैशन स्टेटमेंट और आपकी सामाजिक स्थिति दिखाने का एक तरीका बन गए हैं। सोशल मीडिया के आगमन और जीवन स्तर के बढ़ते स्तर के कारण, अधिक से अधिक व्यक्ति फैशन और जूतों में बहुत पैसा लगाते हैं।

नतीजतन, फुटवियर उद्योग की बिक्री में उल्लेखनीय वृद्धि देखी गई है। मार्केट का विस्तार हो रहा है। यह बिजनेस शुरू करने में आसान और फूटवियर की उच्च मांग, निवेशकों को इसकी ओर आकर्षित कर रही है। इस लेख की सहायता से, आप सीखेंगे कि भारत में जूते-चप्पल की दुकान कैसे शुरू करें।

हम सभी जानते हैं कि व्यवसायी सबसे अधिक पैसा कमाते हैं, इसलिए हर व्यक्ति कभी न कभी एक व्यवसायी बनने की इच्छा रखता है। अगर आपकी इच्छा सिर्फ एक इच्छा नहीं बल्कि एक लक्ष्य है जिसे आप पूरा करना चाहते हैं, तो आप सही जगह पर आए हैं।

आज के समय में चल रहे बेहद खास बिजनेस जूते-चप्पल की दुकान खोलने का बिजनेस हम कैसे कर सकते हैं? इसकी जानकारी हम आपको देने जा रहे हैं। इसके लिए आप इस आर्टिक्ल को पूरा पढ़ें।

1. प्लानिंग

एक उद्यमी के रूप में सफलता के लिए एक स्पष्ट प्लानिंग आवश्यक है। यह आपके बिजनेस की विशिष्टताओं को मैप करने और कुछ अज्ञात की खोज करने में आपकी सहायता करेगा। बिजनेस प्लानिंग हमारे बिजनेस का एक ओवरव्यू होता है। फुटवियर क्षेत्र से संबंधित कंपनियों सहित हर कंपनी को लाभदायक होने के लिए एक बिजनेस प्लानिंग की आवश्यकता होती है।

फुटवियर क्षेत्र में एक सफल उद्यमी बनने के लिए, इस मार्केट की रिसर्च और विश्लेषण करना महत्वपूर्ण है। क्योंकि इससे हमें हमारे टार्गेटेड कस्टमर्स का पता चलता है। उदाहरण के लिए यदि आपके बिजनेस में जूते महंगे होंगे, तो आपको गुणवत्ता प्रदान करने पर ध्यान देना चाहिए। इसके बजाय लो-एंड जूते पेश करते समय, लक्ष्य गुणवत्ता के बजाय मात्रा पर ध्यान केंद्रित करना होगा।

इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि किसी दिए गए बिजनेस का क्षेत्र कहां है। चूंकि सभी को एक सुरक्षित निवेश शुरू करने और बनाने के लिए एक अच्छी तरह से तैयार की गई बिजनेस प्लानिंग की आवश्यकता होती है। एक बिजनेस गेम प्लान केवल एक व्यावसायिक योजना को हाथ में लेकर नहीं बनाया जाता है।

एक जूते-चप्पल की दुकान की स्टार्टअप लागत दुकान के आकार पर निर्भर करती है। अगर आप किसी ग्रामीण इलाके में दुकान खोल रहे हैं, तो आपको 2 लाख रुपए का इनवेस्टमेंट करना होगा, अगर वहीं आप किसी छोटे शहर में दुकान खोलना चाहते हैं। तो यह इनवेस्टमेंट 5 लाख रुपए से ज्यादा होती है।

इसमें किराए के लिए प्रति माह लगभग 10 हजार रुपए का भुगतान करना पड़ सकता है। यह आपकी लोकेशन के हिसाब से अलग होगा। इसके अलावा हमें अपनी दुकान में एक या दो स्टाफ को भी काम पर रखना होगा, जो ग्राहकों को उनकी मनपसंद के फूटवियर दिखाएगा।

इसलिए हमें उनको भी प्रत्येक महीने का भुगतान करना होगा। इसके अलावा बिजली और अन्य खर्चे भी हमारी इसी लागत में आते हैं। अन्य खर्चों में सबसे महत्वपूर्ण मार्केटिंग है। अपनी दुकान को प्रसिद्ध बनाने के लिए उसकी मार्केटिंग करना बहुत महत्वपूर्ण है। जितनी अच्छी आपकी मार्केटिंग स्ट्रेटजी होगी, आपके ग्राहक उतने ही ज्यादा होंगे।

इसके बाद आती है, शुरुआत में हमें अपनी दुकान के लिए माल खरीदना होगा। जिसके लिए हमारे पास दो विकल्प है। इसमें पहले विकल्प के अनुसार हम किसी मैनुफेक्चुरिंग कंपनी से जूते-चप्पल खरीदते हैं। और दूसरा विकल्प हमारे खुद के द्वारा जूते-चप्पल का निर्माण करना।

हमारे हिसाब से आपके लिए खुद के जूते बनाकर बेचना एक अच्छा विकल्प है। क्योंकि इसमें जो भी शुद्ध लाभ होता है, वो आपका ही होता है। किसी ओर कंपनी का कोई मार्जिन नहीं होता है। हालांकि इसके लिए आपको शुरुआत में अपनी ब्रांड वैल्यू बनानी होगी, ताकि लोग आपके फूटवियर खरीदते समय हिचकिचाएँ ना।

3. टार्गेटेड मार्केट

वैसे जूते-चप्पल के बिजनेस में प्रत्येक प्रकार के ग्राहक देखने को मिलते हैं। लेकिन जब आप अपनी दुकान शुरू करें तो आपको एक निश्चित वर्ग के लोगों को ही टार्गेट करना होगा। इससे आपकी दुकान पूरे मार्केट में अलग दिखाई देगी। आप जिन लोगों को टार्गेट कर दुकान शुरू कर रहे हैं। उनकी पसंद का प्रत्येक फूटवियर आपकी दुकान में होना चाहिए।

इससे वे ग्राहक किसी और दुकान में नहीं जाएंगे। क्योंकि उन्हें पता होगा कि आपकी दुकान में उनकी पसंद के जूते-चप्पल आसानी से मिल जाएंगे। यह एक प्रकार की बिजनेस प्लानिंग का ही एक हिस्सा है, जिसे आपको शुरुआत में ही डिसाइड करना होगा।

अपने टार्गेटेड ग्राहकों को अच्छे से जानने के लिए आप ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों मोड का सहारा ले सकते हैं। ऑफलाइन मोड में आपको मार्केट रिसर्च से अंदाजा हो जाएगा। इसके अलावा आप लोगों से पर्सनली बात कर उनकी राय ले सकते हैं। इसके अलावा ऑनलाइन मोड में लोगों की सर्च वॉल्यूम से पता लगाया जा सकता है।

इसके अलावा अपने टार्गेटेड ग्राहकों को जानने से समय, पैसा और ऊर्जा सही दिशा में लगाने में मदद मिलती है। आप हर किसी के पसंदीदा नहीं हो सकते, इस प्रकार अपने प्रोडक्टस को उन लोगों को पेश करें जो आपको लगता है कि इसकी सराहना करेंगे। यह कहने के बाद, एक उद्यमी के रूप में, आपको यह तय करना होगा कि आप अपने प्रोडक्टस को किसे बेचना चाहते हैं।

क्या जूते विशेष रूप से बच्चों, वयस्कों, मध्यम आयु वर्ग के लोगों या बुजुर्गों के लिए बेचने हैं। आप अपनी प्लानिंग के अनुसार अपने ग्राहकों को उनके लिंग, आय या किसी अन्य मानदंड के अनुसार वर्गीकृत भी कर सकते हैं। इसलिए अंधेरे में तुक्का मारने के बजाय, अपनी प्लानिंग को सरल और यथार्थवादी रखने का प्रयास करें।

लोकेशन किसी भी दुकान के लिए सबसे महत्वपूर्ण होती है। यह ग्राहकों के लिए जितनी अधिक सुलभ होती है, उतनी ही ज्यादा बिक्री होती है। आप अपने एरिया में किसी ऐसी लोकेशन का चयन करें, जहां लोगों का आना-जाना लगा रहता है। इसके लिए सबसे बेस्ट जगह मार्केट एरिया है।

लोकेशन सिलेक्ट करने के बाद आपको अपनी दुकान का साइज़ चेक करना होगा। आमतौर पर 150-200 वर्ग फूट की दुकान इसके लिए उत्तम रहती है। लेकिन आप इसे अपने हिसाब से सेट कर सकते हैं। जैसे अगर आप खुद जूते-चप्पल बनाना चाहते हैं, तो इसके लिए ज्यादा जगह की आवश्यकता होगी।

वहीं अगर आप किसी होलसेलर से माल खरीदते हैं, तो आपको सिर्फ उस माल को रखने के लिए ही जगह की आवश्यकता होगी। इसके अलावा दुकान में ग्राहकों के बैठने की अच्छी व्यवस्था होनी चाहिए। साथ ही साथ आपका बाहरी काउंटर भी बढ़िया जगह पर होनी चाहिए।

आपकी दुकान जमीन से थोड़ी ऊपर होनी चाहिए, ताकि बारिश के मौसम में किसी नुकसान का सामना न करना पड़े। दुकान किराए पर लेते समय आपको पहले से ही किराया डिसाइड कर लेना है, ताकि बाद में किसी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़े।

5. कंपीटीटर्स को जानना

अपने कंपीटीशन में बैठे लोगों को जानने के लिए आपको मार्केट रिसर्च और उनके बिजनेस मॉडल को समझना होगा। चूंकि फुटवियर उद्योग नया नहीं है, इसलिए कई घरेलू और इंटरनेशनल कंपीटीटर्स होंगे। नतीजतन यह तय करना आवश्यक है कि किसके साथ प्रतिस्पर्धा करनी है।

एक ब्रांड बनाने और समाज के उच्च आय वर्ग के प्रोडक्टस को बेचने के लिए कई वैश्विक और स्थानीय कंपनियों के साथ प्रतिस्पर्धा करने की आवश्यकता है। अगला कदम एक प्रतियोगी के स्टोर पर जाना और उनके ग्राहकों का अध्ययन करना है। क्योंकि ग्राहक वे लोग हैं जिन्हें आप अपने संदेश में बताना चाहते हैं।

आप अपनी दुकान की संपत्ति और देनदारियों की सूची बनाएं और विकास की संभावनाओं और जोखिमों की तलाश करें। पहले सूचीबद्ध वस्तुओं पर रिसर्च करने और उन पर काम करने के बाद आपको कुछ हद तक बिजनेस समझ आ जाएगा। आपको अपनी लोकेशन के पास किसी कंपीटीटर को जड़ें नहीं जमाने देनी होगी।

या आप शुरुआत में ही ऐसी लोकेशन सिलेक्ट करें, जहां पहले से कोई बड़ी जूते-चप्पल की दुकान न हो। आप अपने कंपीटीटर्स को जानने के बाद उनकी कीमतों को एनलाइज करें, ताकि आप अपने ग्राहकों को उनसे ज्यादा कीमत पर प्रॉडक्ट न बेचें।

6. सप्लायर्स या होलसेलर्स से संपर्क करना

आपको अपनी दुकान के लिए फूटवियर की आवश्यकता होगी। इसके लिए आप किसी होलसेलर या सप्लायर से संपर्क कर सकते हैं। इसके अलावा आप किसी मैनुफेक्चुरिंग फ़ैक्टरि से भी माल खरीद सकते हैं। लेकिन इसके लिए आपको बड़े पैमाने पर माल खरीदना होगा।

यह सबकुछ आपकी इनवेस्टमेंट और दुकान के साइज़ पर निर्भर करता है। माना आपकी दुकान किसी ग्रामीण या छोटे शहरी एरिया में है, तो आपको किसी होलसेलर या सप्लायर से संपर्क करना होगा। क्योंकि मैनुफेक्चुरिंग कंपनियाँ अक्सर इतने छोटे लेवल पर ऑर्डर प्रोवाइड नहीं करवाती है।

इसके अलावा आप किसी फूटवियर कंपनी की फ्रेचाइंजी भी ले सकते हैं, इसके लिए आपको कंपनी के साथ अच्छे से बातचीत करना होगा। अगर आपके द्वारा दिया गया प्रस्ताव उनको पसंद आता है, तो आप उनके जूते-चप्पल बेच सकते हैं। जिससे आपको कस्टमर बेस बनाने में ज्यादा समय नहीं लगेगा।

बढ़िया होलसेलर या सप्लायर ढूँढने के लिए आप इंटरनेट का भी सहारा ले सकते हैं। हालांकि आपको अपने लोकल एरिया में मौजूद होलसेलरों से ही माल खरीदना चाहिए। क्योंकि माल में किसी प्रकार की गड़बड़ी होने पर आप उनको वापिस कर सकते हैं।

7. मार्केटिंग

किसी भी नए बिजनेस की ओर लोगों का ध्यान आकर्षित करने के लिए प्रमोशन जरूरी है। इसलिए अगर आप फुटवियर का बिजनेस शुरू करते हैं तो आपको प्रमोशन पर भी फोकस करना चाहिए। आपको अपनी दुकान ऐसी जगह खोलनी चाहिए, जहां लोगों की भारी भीड़ हो, लोगों का ध्यान आपकी दुकान की तरफ जरूर जाएगा।

बहुत से लोग बस अपना बिजनेस शुरू करते हैं लेकिन दुकान डिजाइन करने पर कोई ध्यान नहीं देते हैं, लेकिन आपको ऐसा नहीं करना है। आप अपनी जूते-चप्पल की दुकान को अच्छे से डिजाइन कर सकते हैं चाहे वह छोटी है या बड़ी, ताकि लोग आपकी दुकान पर खींचे चलें आएं।

अपनी जूते-चप्पल की दुकान के लिए एक अच्छा नाम रखें और ध्यान रखें कि आपको एक छोटा नाम रखना होगा क्योंकि छोटे नाम अक्सर लोगों को जल्दी याद हो जाते हैं। आपको कोशिश करनी होगी कि आप अपनी दुकान में ज्यादा से ज्यादा खूबसूरत जूतों और चप्पलों का कलेक्शन हो, क्योंकि जब आप ऐसा करेंगे तो लोग आपके जूतों को देखकर आपकी दुकान पर आ जाएंगे।

अपने बिजनेस की मार्केटिंग कैसे करें, इस बारे में अधिक जानकारी के लिए आप इंटरनेट की मदद भी ले सकते हैं, क्योंकि वहां आपको जूतों और चप्पलों के व्यवसाय की मार्केटिंग कैसे करें, इसके बारे में बहुत सी बातें जानने को मिलेंगी।

अपनी दुकान की मार्केटिंग के लिए आप सोश्ल मीडिया का भी सहारा ले सकते हैं। लेकिन इसके लिए आपको सबसे पहले अपनी दुकान के नाम से विभिन्न सोश्ल मीडिया प्लैटफ़ार्म पर अकाउंट बनाने होंगे। इसके अलावा आप पंफ्लेट और बैनर्स छपवाकर भी लोगों को अपनी नई दुकान के बारे में बात सकते हैं।

समय के साथ जब ग्राहकों का आपकी दुकान पर विश्वास बढ़ता जाएगा, वैसे ही वे वर्ड-ऑफ-माउथ की मदद से मार्केटिंग करेंगे। आपकी मार्केटिंग स्ट्रेटजी जितनी अच्छी होगी, उतनी ही वह ग्राहकों को अपनी ओर आकर्षित करेगी। हालांकि मार्केटिंग के लिए आपको अपना बजट पहले ही सेट करना होगा।

जूते चप्पल की दुकान से कितने पैसे कमा सकते हैं (Profit)

footwear business profit

किसी भी दुकान के लिए यह कहना थोड़ा मुश्किल है, कि उससे कितनी कमाई होती है? क्योंकि यह सब ग्राहकों की संख्या, दुकान के साइज़, लोकेशन, प्रॉडक्ट के प्रकार और कस्टमर सर्विस पर निर्भर करता है। अगर यह सभी आपकी दुकान में अच्छे हैं, तो आपको फायदा भी उतना ही ज्यादा होगा।

मान लीजिए आप रोजाना 50 जोड़ी जूते बेचते हैं। जिनको आपने होलसेलर से प्रत्येक जोड़ी को 600 रुपए में खरीदा। फिर आपने उसी जूते को 650 रुपए में अपने ग्राहक को बेच दिया। इस तरह आपको  एक जूते पर 50 रुपए का फायदा होगा। इसी amount को अगर हम 100 से गुणा करें तो रोजाना के 2500 रुपए होते हैं।

इस तरह से अगर हमारी दुकान पूरा महिना खुली रहती है, तो हमको 75000 रुपए का प्रॉफ़िट होगा। लेकिन इसके बाद हमें किराया, स्टाफ सैलरी, बिजली बिल और अन्य खर्चें भी कम करने होंगे। जो कुल मिलाकर 35,000 रुपए के आसपास होते हैं।

75 में से 35 निकालने के बाद 40 हजार रुपए का शुद्ध मुनाफा आपको इस गणित से होगा। हालांकि यह एक अनुमानित संख्या है, अगर आपकी दुकान एक trusted दुकान बन जाती है, तो आप इससे ज्यादा भी कमा सकते हैं।

जूते-चप्पल की दुकान में सावधानियाँ

अगर आप जूते-चप्पल की दुकान का बिजनेस शुरू करने का विचार कर रहे हैं तो आपको इस व्यवसाय से जुड़ी कुछ सावधानियों का भी ध्यान रखना चाहिए, जो इस प्रकार हैं-

इनको भी जरुर पढ़े:

तो दोस्तों ये था जूते चप्पल की दुकान कैसे खोलें, हम आशा करते है की इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आपको फुटवियर बिजनेस प्लान अच्छे से समझ में आ गया होगा.

अगर आपको हमारी पोस्ट से हेल्प मिली तो प्लीज इसको शेयर जरुर करें ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग अपना खुद का फुटवियर का बिजनेस शुरू कर पाए.

Related Posts

Coconut Business in Hindi

नारियल का बिजनेस कैसे करें (पूरी जानकारी) | Coconut Business in Hindi

restaurant kaise khole

अपना खुद का रेस्टोरेंट कैसे खोलें | Restaurant Business Plan in Hindi

12 mahine chalne wala business

12 महीने चलने वाला बिजनेस कौन सा है | पुरे साल चलने वाले बिजनेस आइडियाज

chappal business idea hindi

चप्पल का बिजनेस कैसे करें (पूरी जानकारी)

jewellery business ideas in hindi

ज्वेलरी का बिजनेस कैसे करें | Jewellery Business Ideas in Hindi

side business ideas in hindi

जॉब के साथ साइड बिजनेस कैसे करें | Side Business Ideas in Hindi

momos business profit

मोमोज का बिजनेस कैसे शुरू करें | Momos Business Plan in Hindi

part time business ideas hindi

(2023) पार्ट टाइम बिज़नेस आइडियाज जो करोड़पति बना सकते है

Leave a reply cancel reply.

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Save my name, email, and website in this browser for the next time I comment.

The Rural India

Website for Village

जूते चप्पल का बिजनेस कैसे शुरू करें? | Footwear business in Hindi

shoes business plan in hindi

Footwear business in Hindi (फुटवियर बिजनेस प्लान):  आजकल फैशन के दौर में अपने कपड़े से मिलते जुलते हैं फुटवेयर लेना महिलाओं को ज्यादा पसंद होता है। पुरुष भी इस मामले में कुछ कम नहीं है। पुरुषों में भी ब्रांडेड फुटवियर लेने का शौक होता हैं। अगर आप भी किसी काम की तलाश कर रहे हैं तो फुटवियर बिजनेस (Footwear business) आपके लिए एक अच्छा बिजनेस ऑप्शन हो सकता है। 

आपको बता दें, जूते चप्पल का बिजनेस बढ़ते फैशन की वजह से काफी ट्रेंड कर रहा है। आपको सड़कों पर या किसी भी मार्केट में जरूर दो-चार जूते चप्पल की दुकान तो दिख ही जाते होंगे। 

तो आइए, द रुरल इंडिया के इस ब्लॉग में जानें- जूते चप्पल की दुकान कैसे खोलें? (how to start footwear business in hindi)

इस ब्लॉग में आप जानेंगे-

फुटवियर के बिजनेस में स्कोप

फुटवियर बिजनेस कैसे शुरू करें

फुटवियर शॉप के लिए जगह का चुनाव

फुटवियर बिजनेस के लिए रजिस्ट्रेशन और लाइसेंस

किस तरह के कलेक्शन रखें

किस ब्रांड के कलेक्शन रखें

शॉप का नाम कैसा रखें

इंटीरियर कैसा रखें

मार्केटिंग कैसे करें

फुटवियर के बिजनेस में लागत

फुटवियर के बिजनेस में मुनाफा

फुटवियर बिजनेस में स्कोप (Scope in Footwear Business)

आजकल कपड़े और फुटवियर की बिक्री इतनी है कि इसमें स्कोप तलाशने की जरूरत नहीं है। अगर आपने यह बिजनेस शुरु कर दिया तो अच्छी कमाई होगी। आप चाहे तो होलसेल जूते-चप्पल खरीद कर भी बेच सकते हैं। इसके अलावा आप खुद ही एक सप्लायर बन सकते हैं। जैसे- आप थोक में सामान लाकर फूटकर फुटवियर व्यापारियों को बेच सकते हैं। अगर आप यही काम बड़े पैमाने पर करते हैं तो आप इसके खुद ही होलसेलर या डिस्ट्रीब्यूटर बन सकते हैं।

जूते चप्पल की दुकान कैसे खोलें? (how to start footwear business)

गांव हो या शहर यह बिजनेस आप कहीं भी शुरू कर सकते हैं। क्योंकि हर जगह के लोग चप्पल-जूते का इस्तेमाल करते हैं। गांव में आप चाहे तो छोटे स्तर पर कर सकते हैं। जैसे किसी बड़े दुकान वाले से जो होलसेल के दाम में चप्पल जूते की बिक्री करते हैं। आप उनसे चप्पल जूता लेकर बेच सकते हैं और पैसे कमा सकते हैं। यही काम आप शहर में करते हैं तो किसी अच्छे सप्लायर से संपर्क कर लें। और उससे थोक में माल लेकर आप अपने दुकान में बेच सकते हैं।

अगर आप गांव में फुटवियर बिजनेस का प्लान करना चाहते हैं। तो अपने गांव के आसपास सड़क पर एक कमरे जितनी बड़ी जगह देख कर चप्पल जूते की दुकान खोल सकते हैं। अपने बढ़ती आमदनी को देखकर अपनी दुकान बड़ी कर सकते हैं। इसके लिए आपको किसी तरह का दबाव नहीं है। आप अपने मुताबिक यह काम कर सकते हैं।

अगर आप फुटवियर शॉप शहर में खोलना चाहते हैं, तो ध्यान रहे कि किसी भीड़भाड़ वाले मार्केट में ही फुटवियर शॉप खोलें। क्योंकि मार्केट में लोगों का आना-जाना अधिक रहेगा तो ज्यादा लोग आपके कलेक्शन के शोकेस पर ध्यान देंगे। यदि अच्छा कलेक्शन है तो फुटवेयर खरीदने की आपके पास ही आएंगे, जिससे आपकी अच्छी कमाई होगी।

फुटवेयर बिजनेस के लिए रजिस्ट्रेशन और लाइसेंस

यह बिजनेस अगर आप थोड़े बहुत चप्पल खरीद कर अपनी जीविका के लिए करते हैं। तो आपको किसी तरह की रजिस्ट्रेशन करवाने की जरूरत नहीं है। लेकिन अगर आप खुद की जूते-चप्पल की दुकान खोलना चाहते हैं तो इसके लिए आपको जीएसटी रजिस्ट्रेशन भी करवाना पड़ेगा। इसके साथ ही वन पर्सन बिजनेस का भी रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ेगा। 

लेडीज फुटवियर

जैसे-

सैंडल 

जूती 

फ्लैट स्लीपर 

रेगुलर यूज स्लिपर 

जेंट्स फुटवेयर

जूता 

चप्पल

 सैंडल 

मोजड़ी

 बूट 

बच्चों के लिए

सैंडल

किस ब्रांड के फुटवियर रखें

आप चाहे तो लोकल ब्रांड भी रख सकते हैं। यह आप अपने आसपास रहने वाले ग्राहकों को देखकर ही सोचें। क्योंकि अगर आप गांव में बड़े ब्रांड रखेंगे तो उसके बिक्री गांव में ज्यादा नहीं होगी। क्योंकि गांव में लोग बहुत ज्यादा महंगे जूते चप्पल खरीदना पसंद नहीं करते हैं। हां अगर यह बिजनेस शहर में आप एक ब्रांडेड फुटवियर शॉप के तौर पर करना चाहते हैं। तो कर सकते हैं और अच्छा पैसा भी कमा सकता है।

फुटवियर शॉप का नाम कैसे रखें

अगर आप कहीं भी मार्केट में फुटवियर शॉप खोल रहे हैं तो ध्यान रहे कि दुकान खोलने से पहले अपने साथ का एक अच्छा सा नाम सोच लें। आप अपने फुटवियर शॉप का नाम  चाहे तो अपने नाम से या  अपने घर के सदस्य के किसी नाम से भी कर रख सकते हैं। फिर दुकान के नाम से ही रजिस्ट्रेशन करवाएं।

दुकान का इंटीरियर कैसा रखें

अगर आपने यह बिजनेस छोटे स्तर पर या कहीं गांव में किया है तो इसके लिए आपको इंटीरियर के लिए पैसा खर्च करने की जरूरत  नहीं है। लेकिन अगर आप यही बिजनेस कहीं मार्केट में कर रहे हैं तो आपको उस तरह का इंटीरियर भी रखना चाहिए। जो आपके ग्राहकों को देखकर अच्छा लगे। लोग आपके इंटीरियर और कलेक्शन को देखकर आकर्षित हो जाए।

दुकान की मार्केटिंग कैसे करें

फुटवेयर की तो मार्केट में भरमार पड़ी है। लेकिन उसी में आपको भी जगह बनाना है तो इसके लिए थोड़ी मशक्कत करनी पड़ेगी। आप अगर यह बिजनेस छोटे पैमाने पर कर रहे हैं तो थोड़ा ही सामान लाकर बेचे। लेकिन वह थोड़े से ही समान आज के फैशन के मुताबिक रखें। जो लोगों को जल्दी पसंद आ जाए और जल्दी से बिक जाए। उसके बाद अपने मुनाफे से ही और कलेक्शन बढ़ा दे। अपनी बढ़ती मार्केटिंग को देखते हुए आप स्टॉक में माल भी रख सकते हैं। अगर आपके स्टॉक में समान हो तो आप छोटे व्यापारियों को बेचकर पैसे कमा सकते हैं। खुद से दुकान में भी बेच कर पैसे कमा सकते हैं। इसके अलावा आप चाहे तो फ्लिपकार्ट , अमेजॉन और मीशो ऐप पर अपने शॉप का रजिस्ट्रेशन करवाकर अच्छी मार्केटिंग कर सकते हैं।

फुटवियर बिजनेस में लागत ( cost in footwear business)

अगर आप यह बिजनेस छोटे पैमाने पर कर रहे है तो आपको बहुत ज्यादा लागत लगाने की जरूरत नहीं है। आप चाहे तो अपनी जरूरत या अपने ग्राहकों को देखते हुए जितनी बिक्री हो। उस हिसाब से ही सामान लाए और बिकने के बाद अपने मुनाफे के पैसे से और सामान लेकर आए। अगर आप बड़ी दुकान खोल रहे हैं तो आपको फैशन के मुताबिक सामान लाकर अपने दुकान में भरना पड़ेगा। इसके लिए आपको तीन से चार लाख की लागत लगानी पड़ेगी।

फुटवियर के बिजनेस में मुनाफा ( profit in footwear business)

आजकल फैशन के दौर में लोगों का फुटवियर कलेक्शन तो देखते ही होंगे। एक घर में एक लोग के पास लगभग 5-6 जोड़ी फुटवियर कलेक्शन होना तो आम बात है। तो इसी से आप अंदाजा लगा सकते हैं कि फुटवियर का बिजनेस कितना फायदेमंद साबित हो सकता है। यह बिजनेस कभी भी घाटे में जाने वाला बिजनेस नहीं है। लेकिन इसके लिए आपको हमेशा फैशन के मुताबिक अपडेट रहना चाहिए। छोटे स्तर की फुटवियर की बिजनेस से आप आराम से 30 से 50 हजार रुपए आसानी से कमा सकते हैं। 

ये तो थी, फुटवियर बिजनेस (How to Start Footwear Business) की जानकारी। यदि आप इसी तरह कृषि, मशीनीकरण, सरकारी योजना, बिजनेस आइडिया और ग्रामीण विकास की जानकारी चाहते हैं तो अन्य लेख जरूर पढ़ें और दूसरों को भी पढ़ने के लिए शेयर करें।

ये भी पढ़ें-

shoes business plan in hindi

लेख को सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर शेयर करें:

नई पोस्ट, पुरानी पोस्ट.

Axact

Contribute to The Rural India (Click Now)

हम बड़े मीडिया हाउस की तरह वित्त पोषित नहीं है। ऐसे में हमें आर्थिक सहायता की ज़रूरत है। आप हमारी रिपोर्टिंग और लेखन के लिए यहां क्लिक कर सहयोग करें।🙏

Post A Comment:

0 comments:.

Shoes wholesale Business Kaise Khole

जूतों का बिजनेस कैसे शुरु करे | Shoes Wholesale Business Hindi

Footwear Business profit | Footwear Wholesale Business | How to start a footwear wholesale business | Juta Chappal ka business | Shoes Business Ideas | Shoes Manufacturing Business in Hindi | How to start a footwear shop business | जूतों का होलसेल बिजनेस । जूते चप्पल की दुकान कैसे खोले

Shoes Wholesale Business :- आज के समय मे सभी लोग जूतो का इस्तेमाल काफी ज्यादा करते है चाहए वे घर पर हो या कही जाना हो उन्हे हर जगह के लिये अलग अलग जूतो की जरुरत तो पडती ही है। और बात करे जूतो का बिजनेस का तो आजकल सबसे ज्यादा चलने वाले बिजनसो मे से एक है जूतो का बिजनेस चाहे वह रिटेल का बिजनेस हो या वो चाहे होलसेल का बिजनेस हो। वैसे तो यह बिजनेस सभी मैसमो मे चलता रहता है लेकीन ठंडी के सिजन मे इसकी सेल काफी बढ जाती है जिसके वजह से जूतो का बिजनेस करने वाले ठंडी के समय काफ़ी बढिया पैसा कमा लेते है।

और बात करे तो आजकल लोग घर के अंदर छोड कर सभी स्थानो पर जूतो को ही पहनना पसंद करते है चाते वह रोज मर्रा की जिंदगी हो या चाहे कोई त्योहार। आज के समय मे सबसे ज्यादा जूतो की सेल स्पोर्ट के जूतो की होती है क्योकी आजकल सभी लोग स्पोर्ट शूज को पहनना काफी पसंद करते है। और बात करे इसके डिमांड की तो इसकी डिमांड पूरे साल भर रहती है इसी लिये इस बिजनेस का बंद होने का कोई डर भी नही रहता है।

Table of Contents

जूते चप्पल की दुकान कैसे खोले ? How to Start Footwear Shop in India

Footwear Shop , आजकल सभी लोग ब्रांडेड जूते को खरिदना काफी पसंद करते है जिसके वजह से आजकल कई ऐसी कम्पनीयॉ है जो एकदम हुबहु ब्रांडेड जूतों की तरह अपने जूतो की डिजाइन बनाती है लेकीन उसका नाम बदल कर बाजार मे बेचते है। और बात करे चप्पल की तो आज के समय मे हर कोई चप्पल का बिजनेस कर रहा है लेकीन अगर आपको अपने बिजनेस के माधय्म से जूतो के साथ-साथ चप्पल भी बेचना है तो आपको कोई भी ऐसा वैसा चप्पल बेचने की जरुरत नही इससे आपके कस्टमर टुट सकते है अगर आपको अपने बिजनेस मे जूतो के साथ-साथ चप्पल भी बेचना है तो आपको कोई अच्छी कम्पनी का चप्पल बेचना होगा ताकी आपके कस्टमर का भरोसा आप पर बना रहे नही तो अगर आप लोकल क्वालीटी वाला चप्पल बेचते है तो आपका बिजनेस नही चलेगा।

अगर देखा जाये तो अपने देश मे अन्य मार्केट के जैसे ही जूतो का भी बिजनेस काफी बडा है। आज के समय मे भारत मे प्रती वर्ष 2.1 बिलियन जोडी जूते बनाये जाते है। और इस आंकडे के अनुसार 90% जूते इसी देश मे इस्तेमाल किये जाते है और बाकी के जूते अन्य देशो मे एक्स्पोर्ट किये जाते है।

Oppo Service Center कैसे ले

जूतों का बिजनेस कैसे शुरु करे | Shoes Wholesale Business Hindi  

आज के समय मे जूता लोगो के जिंदगी मे एक अहम हिस्सा निभाता है। और बात करे तो आज के समय मे सबसे ज्यादा चलने वाला बिजनेस मे से यह बिजनेस एक है। आजकल तो बाजार मे कई ब्रांड के जूते बेचे जाते है जैसे:- Adidas, Nike, Reebok, Bata, Lee Cooper, Red Chief, Puma, Woodland, Jordan आदि लेकीन यह सभी ब्रांडेड जूते काफी महंगे बिकते है इसका मुख्य कारण है की इन ब्रांड का प्रचार प्रसार इन सभी कम्पनीयो का सबसे ज्यादा पैसा इन्ही सब चिजो मे चला जाता है इस कारण इन सभी ब्रांड के जूते काफी महंगे बिकते है। [ MIS Portal Haryana ]

shoes business plan in hindi

इन्ही सभी कारणो से कस्टमर लोकल यानी सस्ते रेट वाले जूते लेना काफी पसंद करते है और इन जूतो मे दुकानदार का भी काफी बढिया मुनाफा होता है। इसी कारण से भारतीय बाजारो मे ब्रांडेड जूतो से ज्यादा लोकल ब्रांड के जूतो को बेंचा जाता है। और कस्टमर इन सभी जूतो को काफी शौक से खरीदते है।

:- निचे हमने बताया है की किस तरह आप जूतो का होलसेल बिजनेस शुरु कर सकते है।

इंडेन गैस बुकिंग कैसे करे

जूतों के होलसेल बिजनेस के प्ररुप

Footwear Wholesale Business Types: – आजकल भारतीय बाजारो मे दो प्रकार के जूतो के होलसेल बिजनेस है आप अपने निवेश के अनुसार यह बिजनेस शुरु कर सकते है।

Branded Wholesale Shoes Business: – इसके अंदर सभी ब्रांडेड जूतो की कम्पनीयॉ आती है लेकिन आप सिर्फ एक ही कम्पनी का बिजनेस शुरु कर सकते है उसके लिये आपको उस कम्पनी का फ्रैंचाइजी या डिस्ट्रिब्युटरशिप लेना होगा।

Local Wholesale Shoes Business: – इसमे आप एक ही साथ कई कम्पनीयो के जूते बेंच सकते है और इसके लिये आपको कोई फ्रैंचाइजी या डिस्ट्रिब्युटरशिप लेने की जरुरत नही होती है। अगर आप खुद जूता बनाने का काम करते है तो आपको दुगुना मुनाफा होगा।

HP गैस कैसे बुकिंग करे

Important Parts for Wholesale Shoes Business

Requirement for Footwear Wholesale Business :- इस बिजनेस को शुरु करने के लिये आपको पहले से ही कुछ चिजो को तैयार रखना होगा। अगर आपको कोइ ब्रांडेड शुज का होलसेल बिजनेस करना है तो आपको उसके के लिये कई प्रकार के प्रोसेस को फॉलो करना होगा। अगर आप इस बिजनेस को लोकल शुज ब्रांड के अंतर्गत कई सारे जूतो के ब्रांड आते है जिसे आप काफी आसानी से बेच कर मुनाफा कमा सकते है।

भारत के सभी बैंको के टोल फ्री कस्टमर केयर नंबर

Important Investment for Footwear Wholesale Business

Important Investment for Footwear Wholesale Business.

आगर आप पारले की जूतों का होलसेल बिजनेस शुरु करना चाहते है तो सबसे पहले आपको जमिन या फिर आफिस के लिये जगह देखना होगा जो और गोदाम के लिये भी आपको जगह खोजना पडेगा, गोदाम का जगह ऐसे लोकेसन पर होना चाहिये जहा ट्रक या फिर लोडिंग गाडि आसानी से आ सके। अगर आप जमिन खरिद कर बिजनस शुरु करना चाहते है तो ये आपके लिये बहुत बडी इनवेस्ट्मेंट होगी और अगर जमिन आपकी खुद की है तो ये रकम कम हो जायेगी।

Total investment: – 8 lakhs to 15 lakhs.

अगर आप ब्रांडेड जूतों का बिजनेस करना चाहते है तो आपका लागत और भी बढ जाता है।

Total investment: – 11 lakhs to 20 lakhs.

Bharat Gas Booking

Land for Footwear Wholesale Business

यादी आप जूतों का होलसेल बिजनेस शुरु करना चाहते है तो आपको आफिस और गोदाम के लिये जगह कि जरुत पडने वाली है जहा आप अपना बिजनस आसानी से कर सके। यह बिजनस ज्यादा बडा न होने के कारण आप कम लागत मे खूब पैसे कमा सकते है। यहा आपको आफिस के लिये अलग जगह और गोदाम के लिये अलग जगह की जरुरत पडने वाली है।

Branded Footwear Business.  

Local Brand Footwear Business.

Top 10 Business Under 2 Lakhs in India in Hindi

Important Document for Footwear Wholesale Business

Important Document for Footwear Wholesale Business: –

Personal document (PD): – Personal Document के अंदर बहुत सारे दस्तावेज आते है जैसे: –

Business Document: –  इसमे Business Document के दस्तावेज की जांच किया जाता है

Best Place to Purchase Footwear in Bulk

अगर आपको अपना नया दुकान डालना है तो आपको काफी सही जगह से अपना माल उठाना पडेगा नही तो अगर आप अपने माल को ही अधिक रेट पर लेते है तो आप काफी कम फायदा कमा पायेंगे या फिर आप अपना फायदा ही नही कमा पायेंगे उसी के लिये हमने निचे बता रखा है की आप कहॉ से सस्ते दर पर अपना माल उठा कर उसे बाजार मे बेच कर काफि सही मुनाफा कमा सकते है।

इन सभी बाजारो का लोकेशन दिल्ली मे स्थित है।

Bank of India Kiosk Bank Kaise Khole

Shoes Wholesale Business related FAQ’s

जी हां, आप जूतो का बिजनेस कर सकते हैं क्युकि इसमें बहुत ही अच्छा मुनाफा होता हैं|

जूतों के होलसेल बिजनेस को शुरू करने के लिए आप अपने अनुसार निवेश कर सकते है या फिर आप 10 लाख तक का निवेश कर सकते हैं|

चप्पल की दूकान खोलने के लिए पुरी प्रक्रिया हमने इस लेख में बताया है|

IMAGES

  1. Relax shoes business plan

    shoes business plan in hindi

  2. Beckett Shoes Business Plan

    shoes business plan in hindi

  3. Online Shoe Store Business Plan Template [Free PDF]

    shoes business plan in hindi

  4. Beckett Shoes Business Plan

    shoes business plan in hindi

  5. Beckett Shoes Business Plan

    shoes business plan in hindi

  6. New Business Plan Sample

    shoes business plan in hindi

VIDEO

  1. IMC Business Meet. Earn While you Spend. Sunday Special

  2. Highrich online shope business plan Hindi. March 2, 2023

  3. Business Studies project -"Shoes"

  4. Highrich Business Plan Hindi 2023. CALL : 9886501164

  5. Imported Shoes

  6. IMPORTED SHOES WAREHOUSE 🔥

COMMENTS

  1. जूता चप्पल की दुकान कैसे खोले?

    Footwear Shop Business Plan in Hindi: हम सब तो जानते ही हैं कि आज का समय कितना मॉर्डन और आधुनिक बन गया है

  2. How To Start Shoes Business-Shoes Shop Business Plan In Hindi

    How To Start Shoes Business-Shoes Shop Business Plan In Hindi,Footwear Business Ideas Topics covered in this video :- branded shoes

  3. जूते चप्पल की दुकान कैसे खोलें? How to Start a Footwear Shop Business

    जूते चप्पल की दुकान कैसे शुरू करें (How to Start a Footwear Shop In India):. 1. एरिया विशेष में

  4. जूते चप्पल की दुकान शुरू करें (How to Start Shoes Shop in Hindi)

    तो अगर आप गौर करेंगे तब आपको समझ आ जाएगा कि जूते चप्पल के बिजनेस को शुरू करने के

  5. भारत में जूते चप्पल की दुकान कैसे खोलें, जानिए लागत, मार्जिन जैसी

    उत्तर: जी हां, आप जूते चप्पल के बिजनेस के लिए किसी भी बैंक या एनबीएफसी से लोन ले

  6. 2023 में जूते चप्पल की दुकान कैसे खोलें ?पुरी जानकारी

    2023 में जूते चप्पल की दुकान कैसे खोलें ?पुरी जानकारी |How To Start Footwear Shop Business Plan In Hindi.

  7. Footwear Business Plan in Hindi / जूता चप्पल की दुकान कैसे खोले?

    Footwear Business Plan in Hindi: जूता -चप्पल का बिजनेस पुरे ग्लोबल में बहुत बड़ा मार्किट हैं

  8. जूते-चप्पल की दुकान कैसे खोलें

    भारत में लगभग 66% फुटवियर की बिक्री शहरी क्षेत्रों में होती है, शेष 34% ग्रामीण क्षेत्रों

  9. जूते चप्पल का बिजनेस कैसे शुरू करें?

    Footwear business in Hindi (फुटवियर बिजनेस प्लान): आजकल फैशन के दौर में अपने कपड़े से

  10. जूतों का बिजनेस कैसे शुरु करे

    Footwear Shop, आजकल सभी लोग ब्रांडेड जूते को खरिदना काफी पसंद करते है जिसके वजह से आजकल कई ऐसी